Feb 29 2024 / 9:10 PM

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बोले उद्धव ठाकरे- शिंदे-फडणवीस में जरा भी नैतिकता होगी तो देंगे इस्तीफा

Spread the love

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक संघर्ष को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया है। दरअसल, कोर्ट ने मामला सात सदस्यीय संविधान पीठ को सौंपने का निर्देश दिया है। अब तक यह मामला पांच सदस्यीय संविधान पीठ के समक्ष विचाराधीन था। सीजेआई डीवाई चंद्रचूड़ ने राज्यपाल के फैसले को असंवैधानिक करार देते हुए कहा कि कहा कि अगर उद्धव ठाकरे ने खुद ही इस्तीफा नहीं देते तो उन्हे बहाल कर सकते थे।

इसके बाद महाराष्ट्र के पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे ने शिंदे-फडणवीस सरकार पर निशाना साधा है। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर इस मुख्यमंत्री (एकनाथ शिंदे) और उपमुख्यमंत्री (देवेंद्र फडणवीस) में जरा भी नैतिकता होगी तो इस्तीफा देना चाहिए, जैसे मैंने इस्तीफा दिया था।

उन्होंने आगे कहा कि हमारा काम इस देश में प्रजातंत्र की रक्षा करना है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर मैं इस्तीफा नहीं देता तो शायद मैं फिर सीएम बन जाता। मैं मेरे लिए नहीं लड़ रहा, मेरी लड़ाई देश के लिए और जनता के लिए है। राजनीति में मतभेद होते रहते हैं, लेकिन हमारा एक मत यह है कि इस देश को बचाना है।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि एकनाथ शिंदे गद्दार हैं। शिंदे ने मेरी पीठ में खंजर घोंपा है। उन्होंने कहा कि गद्दार लोगों के साथ कैसे सरकार चलाता। ठाकरे ने कहा कि उन्होंने (अब शिंदे के सक्रिय विधायक) मेरी पार्टी और मेरे पिता की विरासत को धोखा दिया है। मुख्यमंत्री पद से मेरा इस्तीफा तब कानूनी रूप से गलत हो सकता था, लेकिन मैंने इसे नैतिक आधार पर दिया।

Chhattisgarh