Feb 22 2024 / 5:00 PM

केरल के त्रिशूर में बोले पीएम मोदी- नारी शक्ति विकसित भारत की सिद्धि की सबसे बड़ी गारंटी

Spread the love

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों दक्षिणी राज्यों के दौरे पर हैं। तमिलनाडु की यात्रा के बाद आज पीएम केरल पहुंचें। यहां त्रिशूर में पीएम मोदी ने रोड शो किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने भारतीय जनता पार्टी के महिला सम्मेलन में महिलाओं की एक विशाल सभा को संबोधित किया।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं श्रीत्री शक्ति का आभारी हूं जो मुझे आशीर्वाद देने के लिए भारी संख्या में यहां आई हैं। सौभाग्य से मैं शिव की नगरी कहे जाने वाले काशी संसदीय क्षेत्र से सांसद हूं। यहां वडक्कुनाथन मंदिर में भी भगवान शिव विराजमान हैं। आज केरल की सांस्कृतिक राजधानी त्रिशूर से निकलने वाली ऊर्जा पूरे केरल में नई आशा का संचार करेगी। आजकल देश में मोदी की गारंटी की चर्चा हो रही है।

उन्होंने कहा कि लेकिन मेरा मानना है कि देश की नारी शक्ति ही ‘विकसित भारत’ के संकल्प की सिद्धि की सबसे बड़ी गारंटी है। दुर्भाग्य से आजादी के बाद लेफ्ट, कांग्रेस, एलडीएफ, यूडीएफ की सरकारों ने नारी शक्ति को कमजोर माना। वामपंथी और कांग्रेस सरकारों ने लोकसभा और विधानसभा में महिलाओं को आरक्षण देने वाले कानून को वर्षों तक लटकाए रखा।

पीएम मोदी ने कहा कि लेकिन मोदी ने आप सभी बहनों को उनका हक दिलाने की गारंटी दी थी और उस गारंटी को पूरा किया। ‘नारीशक्ति वंदन अधिनियम’ अब कानून बन गया है। आज वेलु नाचियार और देश की महान शिक्षिका और सामाजिक कार्यकर्ता में से एक सावित्रीबाई फुले की जयंती है। ये महिलाएं हमें नारी शक्ति का सामर्थ्य सिखाती हैं। केरल की बेटियों ने भारत की आजादी, संस्कृति और संविधान निर्माण में योगदान दिया है। एवी कुट्टीमालु अम्मा, अक्कम्मा चेरियन, रोसम्मा पुन्नूस जैसी बहादुर महिलाओं ने स्वतंत्रता आंदोलन को नई ऊर्जा दी।

उन्होंने कहा कि महान आदिवासी कलाकार नानजियाम्मा को उनके कार्यों के लिए पुरस्कृत करना हमारा सौभाग्य था। भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के लिए, चार जातियाँ सर्वोपरि हैं। देश तभी विकसित होगा जब देश के गरीबों, युवाओं, किसानों और महिलाओं का विकास होगा। इसलिए बीजेपी सरकार की योजनाओं का सबसे बड़ा फायदा इन चार जातियों को मिला है। वाम-कांग्रेस के लंबे शासनकाल में महिला शक्ति बुनियादी सुविधाओं से वंचित थी।

पीएम मोदी ने कहा कि मोदी ने बहनों की समस्याओं को हल करने की गारंटी दी थी और उसे पूरा भी किया। हम नारी शक्ति को एक सशक्त शक्ति बनाना चाहते हैं, इसलिए आने वाले समय में हमारी माताओं, बहनों और बेटियों के लिए और अधिक अवसर होंगे। इन दिनों भारत में ‘मोदी की गारंटी’ की सुगबुगाहट है। हालाँकि, मेरा मानना है कि नारी शक्ति ही विकसित भारत के संकल्प की सबसे बड़ी गारंटी है।

उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य से, आजादी के बाद वामपंथी कांग्रेस सरकार ने हमारी नारी शक्ति को कमजोर कर दिया। कांग्रेस और अन्य दलों ने लोकसभा में आरक्षण बिल में देरी की। लेकिन, नारी शक्ति वंदन अधिनियम अब कानून बन गया है। मोदी ने अपनी गारंटी पूरी कर दी है। इसके अलावा, हमने तीन तलाक को खत्म करके अपनी मुस्लिम बहनों को सम्मान के साथ जीवन जीने का अधिकार दिया है। जब केरल की नर्सें इराक में फंसी थीं, तो यह भाजपा सरकार ही थी, जिसने उन्हें सुरक्षित बाहर निकाला और वापस केरल लाया।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कल्पना कीजिए, अगर दिल्ली में वामपंथी-कांग्रेस की कमजोर सरकार होती तो हमारी इन बेटियों का क्या होता? ये मोदी की गारंटी है कि दुनिया में कितना भी बड़ा संकट हो, हर भारतीय की रक्षा की जाएगी। हमने महिलाओं के जीवन को आसान बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। हमने 10 करोड़ उज्ज्वला गैस कनेक्शन, 11 करोड़ पाइप कनेक्शन, 12 करोड़ शौचालय उपलब्ध कराए, 1 में सैनिटरी पैड उपलब्ध कराए, केरल की 60 लाख महिलाओं को बैंक खाते खोलने में मदद की, मातृत्व अवकाश को 26 सप्ताह तक बढ़ाया। यह सब इसलिए संभव हुआ क्योंकि मोदी की गारंटी थी।

पीएम मोदी ने कहा कि जब हम विकसित भारत की बात करते हैं, तो हम चाहते हैं कि हमारी नारी शक्ति नेतृत्व करे! केरल में लंबे समय से वामपंथी और कांग्रेस।सत्ता और विपक्ष में होने का दिखावा कर रहे हैं, जबकि वे हमेशा एक जैसे थे। ये सिर्फ नाम की दो पार्टियां हैं। केरल में चाहे भ्रष्टाचार हो, अपराध हो या भाई-भतीजावाद।।। दोनों मिलकर हर काम करते हैं। अब इंडी अलायंस बनाकर उन्होंने यह ऐलान कर दिया है कि उनकी विचारधारा और नीतियों में कोई अंतर नहीं है। केरल के बच्चे दुनिया में योगदान दे रहे हैं और विश्व स्तर पर बसे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि चाहे वह कोविड हो, सूडान हो, यूक्रेन हो या गाजा, हमने कई संकट देखे हैं। मुसीबत कितनी भी बड़ी क्यों न हो, भाजपा सरकार ने अपने सभी नागरिकों को बचाया है।जब केरल की नर्सें इराक में फंस गईं तो भाजपा ही थी जो उन्हें सुरक्षित घर वापस लाई। त्रिशूर पूरम को लेकर जिस तरह की राजनीति की जा रही है वह दुर्भाग्यपूर्ण है। सबरीमाला में जिस तरह की अव्यवस्था सामने आई है, उससे भक्तों को काफी असुविधा हो रही है। यह यहां की राज्य सरकार की अक्षमता का प्रमाण है।

Chhattisgarh