Feb 29 2024 / 8:41 PM

इमरान खान का सेना पर बड़ा आरोप, कहा- राजद्रोह के आरोप में मुझे 10 साल जेल में रखने की योजना बनाई है

Spread the love

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने सेना पर बड़ा आरोप लगाया गया है। इमरान खान ने दावा किया कि देश के शक्तिशाली सैन्य प्रतिष्ठान ने उन्हें राजद्रोह के आरोप में अगले 10 साल तक जेल में रखने की योजना बनाई है।

पाकिस्‍तान के पूर्व पीएम इमरान खान ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि तो अब लंदन की पूरी योजना सामने आ गई है। उन्‍होंने दावा कि जब मैं जेल में था, तब हिंसा के बहाने उन्होंने जज, जूरी और जल्लाद की भूमिका निभाई। अब बुशरा बेगम को जेल में डाल कर और राजद्रोह कानून का इस्तेमाल करके अगले 10 साल तक जेल में रखकर मुझे अपमानित करने की योजना है।

यह ट्वीट इमरान खान के लाहौर स्थित आवास पर पीटीआई नेताओं की बैठक के बाद आया है। पूर्व पीएम 100 से अधिक मामलों में जमानत पर हैं। उन्होंने कहा, लोग कोई प्रतिक्रिया नहीं करें, यह सुनिश्चित करने के लिए उन्होंने दो काम किए हैं- पहला जानबूझकर न सिर्फ पीटीआई कार्यकर्ताओं बल्कि आम नागरिकों को भी आतंकित किया गया। दूसरा, मीडिया पूरी तरह से नियंत्रित और दबा हुआ है।

इमरान खान ने कहा कि इन अपराधियों द्वारा जिस तरह से ‘चादर और चार दिवारी’ की पवित्रता का उल्लंघन किया जा रहा है, वैसा कभी नहीं किया गया है। पाकिस्तान के लोगों को अपना संदेश देते हुए इमरान खान ने कहा, पाकिस्तान के लोगों के लिए मेरा यही संदेश है कि मैं अपने खून की आखिरी बूंद तक हकीकी आजादी के लिए लड़ूंगा, क्योंकि मेरे लिए इन अपराधियों का गुलाम होने से मौत बेहतर है।

पूर्व पीएम ने शुक्रवार को जमानत मिलने के बावजूद फिर से गिरफ्तारी की आशंका से खुद को इस्लामाबाद हाईकोर्ट (आईएचसी) परिसर में घंटों बंद रखा था। हालांकि, शनिवार को वह अपने लाहौर स्थित घर लौट आए।

गौरतलब है कि इमरान खान को पाकिस्तानी रेंजर्स ने इस्लामाबाद हाईकोर्ट से गिरफ्तार कर लिया था। पीटीआई प्रमुख को अल कादिर ट्रस्ट केस में गिरफ्तार किया गया था। इमरान खान की गिरफ्तारी के बाद पूरे पाकिस्तान में बवाल मच गया था। पीटीआई नेता और कार्यकर्ताओं ने सड़क पर उतकर जमकर आगजनी की। सेना मुख्यालय भी धव्वा बोल दिया था। हालांकि बाद में सुप्रीम कोर्ट ने इमरान को तुंरत रिहाई करने के आदेश दिए और उनकी गिरफ्तारी को अवैध बताया था। इसके बाद पूर्व पीएम को हाईकोर्ट से भी राहत मिल गई थी।

Chhattisgarh