Sep 27 2022 / 7:10 AM

ब्रिटेन के नए महाराज बने किंग चार्ल्स-3, ऐतिहासिक समारोह में हुआ राज्याभिषेक

Spread the love

नई दिल्ली। ब्रिटेन में एक नए युग का आगाज हो गया है। प्रिंस चार्ल्स-3 ब्रिटेन के नए किंग बन गए हैं। लंदन के सेंट जेम्स पैलेस में आयोजित समारोह में उनकी ताजपोशी कर दी गई है। इसके साथ ही अब उनको कई अधिकार भी मिल गए है। इस कार्यक्रम में क्वीन कैमिला, प्रिंस ऑफ वेल्स विलियम, प्रधानमंत्री लिज ट्रस के साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी मौजूद थे।

बता दें कि 08 सितंबर को 96 साल की आयु में क्वीन एलिजाबेथ-2 ने दुनिया को अलविदा कह दिया। ब्रिटेन के 1200 साल के इतिहास में वो पहली क्वीन थी जिनका राज 70 सालों तक चला।

बता दें कि ब्रिटेन में 70 साल बाद राज शाही में बदलाव हुआ है। पिछले 73 साल प्रिंस नाम से मशहूर चार्ल्स-3 अब किंग बन गए हैं। वहीं उनकी ताजपोशी के साथ ही ब्रिटेन में काफी कुछ बदलने जा रहा है। 1952 के बाद ब्रिटेन का राष्ट्रगान बदला जाएगा। ‘गॉड सेव द क्वीन’ की जगह अब ‘गॉड सेव द किंग’ नेशनल एंथम होगा। इसके साथ ही कई शाही प्रतीक भी बदल जाएंगे।

बता दें कि दिवंगत महारानी एलिजाबेथ के बड़े बेटे का पूरा नाम चार्ल्स फिलिप ऑर्थर जॉर्ज है। जॉर्ज का जन्म 14 नवंबर 1948, बकिंघम पैलेस में हुआ था। चार्ल्स 29 जुलाई, 1981 को लेडी डायना स्पेंसर संग परिणय सूत्र में बंधे थे। इस बीच दुर्भाग्यवश 1997 में पेरिस में हुए एक कार हादसे में प्रिंसेस ऑफ वेल्स डायना की मौत हो गई थी। जिसके बाद 9 अप्रैल 2005 को चार्ल्स न कैमिला पार्कर से शादी रचा ली थी। इस दौरान महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद चार्ल्स को राजा घोषित कर दिया गया है।

Chhattisgarh