breaking news

राज्यपाल के पद का बेहद गलत इस्तेमाल हो रहा है: ममता





कोलकाता। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने महाराष्ट्र में आधी रात को बनी भाजपा व अजित पवार की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा ​कि जब उनके पास संख्याबल ही नहीं था तो शपथ लेने की जरूरत ही नहीं थी। साथ ही उन्होंने आधी रात को सरकार गठन करने को लेकर भाजपा पर संविधान के सिद्धांतों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया।

ममता ने महाराष्ट्र के राज्यपाल की भूमिका पर भी निराशा व्यक्त की तथा कहा ​कि किसी भी पार्टी से संबंधित जानकारी मदर पार्टी से ली जाती है। महाराष्ट्र मामले में भी राज्यपाल को ऐसा ही करना चाहिए था। संविधान को पलटा नहीं जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि संविधान को खत्म करने के प्रयास हो रहे हैं। रात में आजादी मिलने के बारे मे सुना था लेकिन कभी भी रात में सरकार बन जाने के बारे में नहीं सुना था।

ममता ने संवाददाताओं से बात करते हुए कुछ राज्यपालों की भूमिका पर सवाल उठाया और कहा कि इस पद का बेहद गलत इस्तेमाल हो रहा है। उन्होंने कहा कि मेरे राज्य में राज्यपाल के पद का गलत इस्तेमाल हो रहा है। किसी को यह नहीं भूलना चाहिए कि राज्यपाल का पद नामित होता है जबकि सरकार निर्वाचित होती है। हम किसी के रहमो-करम पर नहीं हैं।

Share With