Feb 22 2024 / 4:33 PM

इंदौर में एक हजार से अधिक अधिकारी-कर्मचारियों को सिखाए गये मतगणना करने के तौर-तरीके

Spread the love

कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी भी पहुंचे मतगणना के प्रशिक्षण में

इंदौर। इंदौर में विधानसभा निर्वाचन के तहत 3 दिसंबर को होने वाली मतों की गणना कार्य के लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां जारी है। इंदौर के सभी 9 विधानसभा क्षेत्रों के लिए मतों की गणना के लिये आज एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में एक हजार से अधिक अधिकारी-कर्मचारियों को मतगणना के तौर-तरीके सिखाए गये। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने भी स्वयं पहुंचकर प्रशिक्षण दिया। इस अवसर पर इंदौर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तथा प्रशिक्षण के नोडल अधिकारी श्री आर.पी.अहिरवार, प्रशिक्षण के प्रभारी अधिकारी श्री सुदीप मीणा भी मौजूद थे।

यह प्रशिक्षण कार्यक्रम होलकर साइंस कॉलेज के 10 कमरों में एक साथ आयोजित किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में एक हजार से अधिक अधिकारी-कर्मचारी शामिल हुए। इन अधिकारी-कर्मचारियों को मतगणना के लिये मतगणना सुपरवाईजर, मतगणना सहायक तथा माइक्रो आब्जर्वर और पोस्टल बैलेट की गिनती का दायित्व सौंपा जा रहा है। मतगणना का प्रशिक्षण 32 मास्टर ट्रेनरों द्वारा दिया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम दो सत्रों में आयोजित किया गया। पहले सत्र में ईवीएम के माध्यम से मतगणना के तौर-तरीके बताये गये। साथ ही दूसरे सत्र में पोस्टल बैलेट की गिनती का कार्य सिखाया गया। प्रशिक्षण का दूसरा चरण 30 नवम्बर को आयोजित किया जायेगा।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने मतगणना की बारिकियों से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि मतगणना तेज गति के साथ पूर्ण पारदर्शी प्रक्रिया अपनाते हुए की जाये। मतगणना में लगे अधिकारी-कर्मचारियों को व्यावहारिक और सैद्धांतिक प्रशिक्षण दिया गया। उन्हें मतगणना के संबंध में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिये गये दिशा-निर्देश, प्रक्रिया, नियम और अधिनियमों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। प्रशिक्षण के दौरान कहा गया कि निर्वाचन आयोग के द्वारा समय-समय पर जारी निर्देशों के अनुसार मतगणना सम्पन्न की जाये। मतगणना, निर्वाचन प्रकिया का एक महत्वपूर्ण कार्य है। दिये गये अनुदेशों की छोटी से छोटी बातों का पालन करें, जिससे कि मतगणना दोष – रहित हो और निर्वाचन के परिणाम के बारे में अभ्यर्थी या उसके अभिकर्ता के मन में कोई संदेह न रहे । मतगणना में नियुक्त सभी अधिकारी-कर्मचारी निर्धारित समय के एक घंटे पूर्व मतगणना स्थल पर अनिवार्य रूप से पहुंच जाएं। अपने साथ आवश्यक आदेश, पहचान पत्र के अतिरिक्त कोई अन्य वस्तु लेकर नहीं आएं। अधिकारी-कर्मचारी अपने निर्धारित टेबल पर ही बैठें। मतगणना कर्मियों को रेण्डमाइजेशन के पश्चात टेबल आवंटित की जाएगी। मतगणना भवन में धूम्रपान एवं तंबाकू युक्त पदार्थ ले जाना पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगा। मतगणना हाल में मोबाइल ले जाने की अनुमति भी नहीं रहेगी। प्रत्येक गणना कक्ष में सीसीटीवी कैमरे भी लगे होंगे।

Chhattisgarh