Oct 06 2022 / 10:39 PM

बाढ़ पीड़ितों की जिंदगी दोबारा पटरी पर लाने समुचित प्रबंध किए जाएंगे : मुख्यमंत्री श्री चौहान

Spread the love

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विदिशा में बाढ़ राहत कार्यों की समीक्षा की

बाढ़ नुकसान का सर्वे पूरी पारदर्शिता के साथ किया जाएगा- मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बाढ़ और अति-वर्षा से प्रभावित प्रत्येक व्यक्ति की सरकार हर सम्भव मदद करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार का यह दायित्व है कि नागरिकों को इस मुसीबत से उबार कर उनकी जिंदगी दोबारा पटरी पर लाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंगलवार को विदिशा के नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार में बाढ़ राहत कार्यों की समीक्षा कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि बाढ़ से हुए नुकसान के सर्वे का कार्य पूरी पारदर्शिता के साथ किया जाए। उन्होंने कहा कि जिदंगियाँ बचाने एवं उन्हें सुरक्षित स्थान तक पहुँचाने में हम सफल हुए हैं। भारतीय वायु सेना, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, पुलिस, होमगार्ड सभी ने बहुत मेहनत की है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस कार्य में योगदान देने वालों के प्रति साधुवाद व्यक्त किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बाढ़ से प्रभावित बिजली व्यवस्था युद्ध स्तर पर दुरूस्त करें। ट्रांसफार्मर डूबे हुए थे, सब स्टेशनों में पानी भरा हुआ है। जिदंगी को बचाने करंट फैलने से रोकने के लिए बिजली बंद करनी पड़ी। पानी उतरने के साथ ही अब ऊर्जा विभाग के अधिकारी बिजली व्यवस्था सुचारू करने के लिए जुट जाएँ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बारिश बंद हो चुकी है और क्षेत्र में धीरे-धीरे पानी कम हो रहा है। प्रभावित क्षेत्रों में बीमारी न फैले इसके लिए दवा छिड़काव से लेकर साफ-सफाई प्राथमिकता से की जाये। दवा वितरण एवं साफ-सफाई का काम युद्ध स्तर पर हो। स्वास्थ्य विभाग मेडिकल टीम गठित कर गाँव-गाँव एवं शहर में मेडिकल चेकअप एवं दवा वितरण तीव्र गति से करें। उन्होंने कहा कि शुद्ध पेयजल व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए।

कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में वर्तमान हालात से अवगत कराया और प्रशासन द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी। इस दौरान शमशाबाद विधायक श्रीमती राजश्रीसिंह, बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव, विदिशा नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती प्रीति राकेश शर्मा ने भी सुझाव रखे। जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गीता कैलाश रघुवंशी मौजूद रही।

Chhattisgarh