Sep 27 2022 / 6:57 AM

रक्षाबंधन 2022: क्या है सही तिथि और शुभ मुहूर्त

Spread the love

श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि को रक्षाबंधन मनाने की परंपरा है। इस दिन बहनें अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती हैं और उनकी लंबी उम्र की कामना करती हैं। इसके बदले भाई उन्हें रक्षा का वचन देते हैं। हालांकि इस बार भी रक्षाबंधन की तिथि को लेकर लोगों में असमंजस की स्थिति है कि यह त्यौहार किस तारीख को मनाया जाएगा। कुछ लोग 11 अगस्त, 2022 को रक्षाबंधन बता रहे हैं तो कुछ 12 अगस्त को त्योहार होने का दावा कर रहे हैं।

रक्षाबंधन की तिथि-

पंचांग के अनुसार, श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त दिन गुरुवार को सुबह 09 बजकर 34 मिनट से प्रारंभ होकर अगले दिन 12 अगस्त शुक्रवार को प्रात: 05 बजकर 58 मिनट तक मान्य है।

12 अगस्त को सूर्योदय पूर्व ही पूर्णिमा तिथि समाप्त हो जा रही है। श्रावण पूर्णिमा की तिथि में ही रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाएगा। ऐसे में 11 अगस्त को पूरे दिन श्रावण पूर्णिमा है, तो रक्षाबंधन इस दिन मनाना उचित है।

रक्षाबंधन पर भद्रा का साया

11 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन सबसे बड़ी समस्या भद्रा के समय को लेकर है। 11 अगस्त को भद्रा सुबह 09 बजकर 34 मिनट से लेकर शाम 04 बजकर 26 मिनट तक है। अब पूरे भद्रा काल में राखी नहीं बांधी जा सकती है। ऐसे में आप 11 अगस्त को 04 बजकर 26 मिनट के बाद ही राखी बांधें या बंधवाएं।

राखी बांधने का समय-

11 अगस्त को शाम 04 बजकर 26 मिनट से लेकर पूरी रात तक बहनें अपने भाइयों को राखी बांध सकती हैं। यह राखी बांधने का मुहूर्त है।

भद्रा में क्यों नहीं बांधते राखी?

पौराणिक कथा के अनुसार, रावण की बहन ने उसे भद्रा काल में राखी बांधी थी, इसकी वजह से उसका सर्वनाश हो गया। भद्रा के समय किए गए कार्य सफल नहीं होते हैं, इस वज​ह से शुभ कार्यों में भ्रदा से परहेज किया जाता है।

Chhattisgarh