Aug 13 2022 / 5:41 AM

हरियाली तीज 2022: जानें पूजन विधि, शुभ मुहूर्त और महत्व





Spread the love

हिंदू धर्म में प्रत्येक त्योहार अपना एक विशेष महत्व होता है। प्रत्येक त्योहार अलग-अलग तरीके और विधि-विधान के साथ सेलिब्रेट किया जाता है। सावन का महीना तो व्रत और त्योहारों से भरा हुआ है। इस महीने हरियाली तीज आती है जो कि महिलाओं के लिए बेहद ही खास होती है। हरियाली तीज का त्योहार अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है।

आज यानि 31 जुलाई को देश के विभिन्न हिस्सों में हरियाली तीज मनाई जा रही है। हरियाली तीज का त्योहार भागवान शिव और माता पार्वती के पुनर्मिलन के कारण मनाया जाता है। इस दिन महिलाएं दुल्हन के जैसे तैयार होकर माता पार्वती की पूजा करती हैं। हरियाली तीज को छोटी तीज या श्रावण तीज के नाम से भी जाना जाता है।

शुभ मुहूर्त

तृतीया तिथि प्रारम्भ – जुलाई 31, 2022 को सुबह 02 बजकर 59 मिनट पर शुरू।
तृतीया तिथि समाप्त – अगस्त 01, 2022 को सुबह 04 बजकर 18 मिनट पर खत्म।

महत्व

हिंदू धर्म में सु​हागिन महिलाओं के लिए इस व्रत का विशेष महत्व है। यह व्रत पति के अच्छे स्वास्थ्य और लंबी उम्र के लिए रखा जाता है। ध्यान रखें कि जो महिलाएं एक बार इस व्रत को शुरू करती हैं उन्हें बीच में यह व्रत नहीं छोड़ना चाहिए। यहां तक कि मासिक धर्म के दौरान भी व्रत करना चाहिए। बस ध्यान रखें कि पूजा न करें, लेकिन कथा अवश्य सुनें।

पूजन विधि

हरियाली तीज हर महिला के लिए बेहद खास है। सुहागिन महिलाएं इस दिन पति की लंबी उम्र की कामना से व्रत करती हैं। वहीं कुंवारी कन्याएं अच्छे वर की इच्छा से पूजा करती हैं। महिलाओं के लिए मायके से सिंधारा भी भेजा जाता है, जिसमें कपड़े व कुछ मीठा होता है। इस दिन महिलाएं सुबह उठकर स्नान आदि कर व्रत कर संकल्प करती हैं। इसके बाद भगवान शिव व माता पार्वती का विधि विधान से पूजन करें और दिन भर निर्जला व्रत करें। अगले दिन प्रदोष काल में व्रत का पारण करें।

Chhattisgarh