Aug 09 2022 / 4:52 PM

हाट बाजार क्लिनिक के शिविरों की टाईमिंग का करें प्रचार-प्रसार





Spread the love

राजस्व प्रकरणों का समय सीमा में हो निराकरण: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

एक ही प्रजाति के फलदार पौधों का एक स्थान पर करें रोपण

रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज मनेन्द्रगढ़ में अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेते हुए हाट बाजार क्लिनिक योजना के तहत शिविरों की टाइमिंग का प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विभागीय योजनाओं का क्रियान्वयन जमीनी स्तर पर होना चाहिए, इसके लिए अधिकारियों को सतत मॉनिटरिंग करने की आवश्यकता है। उन्होंने राजस्व प्रकरणों के संबंध में अधिकारियों को नामांतरण और बंटवारे की पंजी बनाने और उसे अद्यतन करते रहने के निर्देश दिए। बंदोबस्त त्रुटि के प्रकरणों का भी निराकरण समय सीमा में करें।

अधिकारियों से कहा कि देवगुड़ियों के उन्नयन के कार्यों में तेजी लाएं, देवगुड़ी के उन्नयन के लिए कार्ययोजना बनाकर कार्य को सम्पादित करें। अधिकारियों से कहा गया कि जमीन बंटवारे के संबंध में 170 ख के नियमों का पालन करें।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बैठक में कहा कोरिया जिले में जाति प्रमाण पत्र और वन अधिकार पत्र बड़ी संख्या में बने हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि नए जिले की स्थापना के कार्यों में तेजी लाएं। जाति और आय प्रमाण पत्रों के लंबित प्रकरणों का त्वरित निराकरण करें।

मुख्यमंत्री ने वृक्षारोपण के कार्य में ब्लॉक प्लांटेशन और नहरों के किनारे वृक्षारोपण में एक ही प्रजाति के फलों के पौधरोपण को प्राथमिकता देने के निर्देश दिए, इससे उनके प्रसंस्करण और आमदनी वाला काम शुरू करने में मदद मिलेगी। कोयला खदान एरिया में पलायन रोकने के लिए भूमिहीन श्रमिक योजना के अंतर्गत पात्र लोगों को लाभान्वित करने की बात कही।

गौठान के कार्यो की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने गौठानों में वनोपजों के प्रसंस्करण इकाई की स्थापना करने कहा, जिससे गौठान में आय बढ़ाने का अवसर प्राप्त हो, साथ ही गौठानों मंे रेंटल बिजनेस को भी प्राथमिकता देे। गौठानों मंे उत्पादित की जाने वाली वर्मी कंपोस्ट की गुणवत्ता का ध्यान रखें। गौठानों को रूरल इंडस्ट्रियल पार्क के रूप में विकसित करें।

मनरेगा के कार्यो की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि जिले के जिन क्षेत्रों में बारिश शुरू नहीं हुई है, वहां मनरेगा के काम जारी रखने और अधूरे तालाब के गहरीकरण किया जाए। उन्होंने जल की उपलब्धता पर जोर देते हुए कहा कि सतही जल का ज्यादा उपयोग करें। तालाबों को पेयजल के लिए वाटर रिचार्जिंग करें।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने स्वामी विवेकानंद स्कूल के अलावा अन्य स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए जोर दिया। स्कूलों में टीचर की उपस्थिति समय पर हो और कक्षाओं के कोर्स समय पर पूरा किया जाना सुनिश्चित करें। आत्मानंद स्कूल के बच्चों को स्पोकन इंग्लिश की अच्छी प्रैक्टिस कराए। प्राचार्य और अन्य अध्यापक आपस में तथा बच्चों से स्कूल में अंग्रेजी में बात करेंगे तो इससे वहां का माहौल अच्छा रहेगा।

मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने निर्देशित किया कि आंगनबाड़ियों में बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए गर्म भोजन वितरण प्राथमिकता से हो। मुख्यमंत्री ने आदिवासी विकास विभाग के अधिकारी को आश्रम छात्रावासों की खाली सीटों पर जरूरतमंद बच्चों को प्रवेश देने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मानव-हाथी द्वंद्व को रोकने के लिए प्रभावित क्षेत्रों में तालाब बनवाए और वनों में फलदार वृक्षारोपण जैसे- बरगद, पीपल,कटहल,केला पेड़ लगाएं। समीक्षा बैठक में गृह मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, संसदीय सचिव श्रीमती अंबिका सिंहदेव, विधायक डॉ. विनय जायसवाल और श्री गुलाब कमरो, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव श्री सुब्रत साहू, संभागीय कमिश्नर, आईजी सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Chhattisgarh