Sep 27 2022 / 6:25 AM

मुख्यमंत्री ने बालोद विधानसभा क्षेत्र के गुरूर के आमजनता से की भेंट-मुलाकात

Spread the love

आम जनता की आर्थिक स्थिति में सुधार हो, यह प्राथमिकता है

आम जनता से जुड़ी चीजों में कटौती नहीं करेंगे

किसान के पास पैसा आया तो व्यापार भी बढ़ा

शिक्षा और छत्तीसगढ़ी संस्कृति को बढ़ावा दिया गया

रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज बालोद विधानसभा के गुरूर में आयोजित भेंट मुलाकात कार्यक्रम के दौरान कहा कि आप लोगों से बात की, अच्छा लगा। आप लोगों को सभी योजनाओं का सुंदर लाभ मिल रहा है। सभी योजनाओं के हितग्राहियों से बातचीत की। मैं संतुष्ट हूँ। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि कहीं त्रुटि भी मिली, उसे ठीक कर लेंगे। आम जनता की आर्थिक स्थिति में सुधार हो, यह प्राथमिकता है। कोरोना काल में भी हम लोग सक्रियता से कार्य करते रहे। कोरोना काल में 6 राज्यों में 30 प्रतिशत वेतन कटौती हुई। मुझे भी कहा गया। हमने कहा कि आम जनता से जुड़ी चीजों में कटौती नहीं करेंगे। हर स्तर पर मितव्ययिता की और हम इस संकट का सामना करने में सफल हुए। किसान के पास पैसा आया तो व्यापार भी बढ़ा। लोगों के जेब में पैसे आये। वनोपज खरीदे। संग्राहकों के हित में कार्य किया। अस्पताल बढ़िया किये। स्वास्थ्य में क्रांतिकारी परिवर्तन हुए। बड़ी बीमारियों में 20 लाख रुपये तक राशि देने का निर्णय हुआ। अंग्रेजी स्कूल को बढ़ावा मिला। संस्कृति को बढ़ावा दिया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री द्वारा राजीव गांधी किसान न्याय योजना, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना, गोधन न्याय योजना तथा अन्य योजनाओं का आमजनता से फीडबैक लिया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 20 साल हो गया था। कोई राज्यगीत नहीं था। तीज त्यौहार पर अवकाश नहीं था। मुख्यमंत्री निवास में त्यौहार में गरवा लेकर जाते हैं त्यौहार में। जब पहली बार शास्त्री चौक तक हरेली में बैलगाड़ी से गए तो शहरी लोगों को पता चला कि हरेली में ऐसा होता है। 1 मई मजदूर दिवस के दिन तो अमेरिका में भी बसे भारतीय लोगों ने फेसबुक पोस्ट डाले और लिखा हमने बोरे बासी टेस्ट किया।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा की गई घोषणाएं
मुख्यमंत्री ने गुरूर में जनप्रतिनिधियों की मांग पर अनेक घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि तेजी से विकसित हो रहे टूरिस्ट स्थल ओनाकोना का टूरिज्म के दृष्टिकोण से होगा विकास। गुरूर के जोगिया तालाब का सौन्दर्यीकरण एवं गार्डन निर्माण। बहादुर कलारिन माची नहर पार से मेन रोड मुजगहन तक रोड निर्माण। अंबेडकर चौक गुरूर से कन्हारपुरी तक सड़क चौड़ीकरण एवं सौंदर्यीकरण सियादेही एवं ओनाकोना पर्यटन स्थल के रूप में होगा विकसित। नेवारीकला एवं पड़कीभाठ में नाले में रपटा का निर्माण। ग्राम बोहारा में गौठान मार्ग पर नवीन पुलिया का निर्माण बोड़रा मेन रोड में पुलिया का निर्माण दर्रा खारून नदी में नवीन पुलिया का निर्माण शासकीय नवीन महाविद्यालय गुरूर में बनेगा अतिरिक्त कक्ष।

चाहे 10 लाख हो या 20 लाख लगे। बेटे का इलाज कराएंगे
भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के दौरान हेमंत कुमार ने मुख्यमंत्री को बताया कि मेरे बेटे को मस्कुलर डिस्ट्रॉफी है। चिरायु से इलाज हुआ है। बच्चे को बाहर इलाज करा दीजिये। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि चाहे 10 लाख हो या 20 लाख लगे। बेटे का इलाज कराएंगे।

अब तुम्हारे स्कूल में एक दिन छत्तीसगढ़ी में भी पढ़ाई होगी
स्वामी आत्मानंद स्कूल के बच्चों से मुख्यमंत्री ने बातचीत की। सोनार कोसरे ने बताया कि मैं हेड बॉय हूँ। मुख्यमंत्री ने कहा तुम अंग्रेजी में बोल रहे हो ठीक है पर छत्तीसगढ़ी में भी बोलो। मुख्यमंत्री ने कहा कि क्या सुविधा मिली है। बच्चे ने कहा, लैब है। लाइब्रेरी है। मुख्यमंत्री ने पूछा और फीस । बच्चे ने कहा वो तो एक रुपया भी नहीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तुम्हारे स्कूल में एक दिन छत्तीसगढ़ी में भी पढ़ाई होगी। एक लाख में काम नहीं होगा बाबू, 2 लाख दूंगा। मुख्यमंत्री ने एमबीबीएस के लिए चयनित शिवेंद्र को कहा, जब पैसा सिरा जाहि तब फिर आबे एक लाख में काम नहीं होगा बाबू, 2 लाख दूंगा डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा करना।

बिजली बिल में मिल रही राहत पर भी मुख्यमंत्री ने पूछा। हितग्राही ने विस्तार से इस बारे में बताया। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों को बताया कि बिजली बिल हाफ योजना के लिए 2200 करोड़ हमने दिए हैं। भर्रीनाला के संतराम साहू ने बताया कि नरवा में स्टॉप डैम बन गया है। 6 महीने पहले बना। बोर का लेवल डेढ़ मीटर बढ़ गया। उन्होंने मोटर पंप की डिमांड की। मुख्यमंत्री ने कहा कि नरवा पर सवाल इसलिए पूछा कि यहां के किसान बहुत प्रगतिशील हैं। यहाँ पानी की दिक्कत थी। हमने इसे समझा और ठोस पहल की। फिर नरवा पर काम किया। नरवा में पानी रोकेंगे तो फायदा होगा। ये ड्राई ज़ोन है हमें मनरेगा का पैसा भी इसमें लगाना है।

देश में पहली बार इस तरह से चिटफण्ड कंपनी पर कार्रवाई हुई 40 करोड़ की इनसे रिकवरी हुई। भारत सरकार से मांग की गई है कि इस पर जांच कराएं

मुख्यमंत्री ने चिटफंड कंपनियों के संबंध में कहा कि कितने लोगों को ठगा गया। कितने लोगों ने तो जमीन बेचकर निवेश किया था। प्रदेश का करोड़ो लोगों ने लूट लिया। उन्होंने कहा कि सबसे पहले जिनसे ठगी हुई है, उनसे आवेदन लिया फिर विस्तार से काम हुआ। देश में पहली बार इस तरह से चिटफण्ड कंपनी पर कार्रवाई हुई। संपत्ति कुर्क हुई। 40 करोड़ की इनसे रिकवरी हुई। दूसरे राज्यों में इस पैसे का निवेश किया गया है। भारत सरकार को इससे अवगत कराया गया है, ताकि वहां से भी रिकवर हो। भारत सरकार से मांग की गई है कि इस पर जांच कराएं। हम एक बार पत्र लिख चुके हैं। अभी और लिखेंगे। महाराष्ट्र सरकार ने हमसे पूछा कि आप कैसे इस मामले में कार्रवाई कर रहे हैं। हमने उन्हें भी कार्ययोजना बताई।

Chhattisgarh