Feb 04 2023 / 9:00 PM

पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की स्मृतियों को चिरस्थायी बनाने के लिए रंजना गांव का नामकरण ‘राजीव गांधी रंजना‘ करने की घोषणा

Spread the love

भेंट-मुलाकात में कटघोरा विधानसभा के रंजना पहुंचे मुख्यमंत्री ने की सौगातों की बारिश

कटघोरा में खुलेगा फार्मेसी महाविद्यालय

दीपका और बांकीमोंगरा में प्रारंभ होगा स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल

ग्राम रंजना में खुलेगी जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक की शाखा

भिलाई बाजार में उप-तहसील की घोषणा

ग्राम तिवरता में स्थापित होगी दादा हीरा सिंह मरकाम की प्रतिमा

शासकीय महाविद्यालय दीपका का नामकरण शहीद मूलचंद कंवर के नाम पर होगा

रायपुर। भेंट-मुलाकात में कोरबा जिले के कटघोरा विधानसभा के ग्राम रंजना पहुंचे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने क्षेत्र के लिए कई बड़ी घोषणाएं की। उन्होंने रंजना गांव का नामकरण पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय श्री राजीव गांधी के नाम पर राजीव गांधी रंजना के रूप में करने की घोषणा की। पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी 13 जुलाई 1985 में ग्राम रंजना आये थे। उनकी स्मृतियों की चिरस्थायी बनाने के लिए मुख्यमंत्री श्री बघेल ने गांव का नामकरण उनके नाम पर करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इसी के साथ ग्राम रंजना में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक की शाखा प्रारंभ करने, नगर पालिका दीपका एवं बांकीमोंगरा में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल प्रारंभ करने, भिलाई बाजार में उप-तहसील प्रारंभ करने, कटघोरा में फार्मेसी महाविद्यालय की घोषणा की। इसी तरह उन्होंने शासकीय महाविद्यालय बांकी मोंगरा के भवन निर्माण, कृषि विज्ञान केन्द्र लखनपुर में कृषक प्रशिक्षण केन्द्र भवन निर्माण, शासकीय हाईस्कूल बिरदा का उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में उन्नयन, शासकीय महाविद्यालय दीपका का नामकरण शहीद मूलचंद कंवर के नाम पर करने, ग्राम तिवरता में दादा हीरा सिंह मरकाम की प्रतिमा स्थापना की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने भेंट-मुलाकात स्थल पर छत्तीसगढ़ महतारी के छायाचित्र पर दीप प्रज्जवलन, माल्यार्पण एवं छत्तीसगढ़ के राज्यगीत के साथ भेंट-मुलाकात कार्यक्रम की शुरुआत की। इस अवसर पर लोकसभा सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत, आदिम जाति विकास एवं जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, विधायक श्री मोहित केरकेट्टा और श्री पुरुषोत्तम कंवर, पूर्व विधायक श्री बोधराम कंवर भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने भेंट-मुलाकात को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार की खेती-किसानी को बढ़ावा देने की नीति से अकेले कोरबा में धान का उत्पादन चार गुना बढ़ा है और धान की ख़रीदी भी बढ़ी है। सरकार लोगों की जेब में पैसा डालने का काम कर रही है। केंद्र सरकार लगातार महंगाई बढ़ाने का काम कर रही है। राज्य सरकार किसान, मजदूर, महिला की आय में वृद्धि करने का कार्य कर रही है। हमारा प्रदेश किसानों का प्रदेश है। आय बढ़ाने के साथ पढ़ाई-लिखाई, स्वास्थ्य, बिजली पानी सब की व्यवस्था कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में, शिक्षा के क्षेत्र में और गांव तथा शहर के पुराने स्कूलों की मरम्मत, रंगाई का कार्य भी किया जा रहा है। शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार के साथ-साथ संस्कृति को बढ़ावा देने का काम हमारी सरकार कर रही है। उन्होंने कहा कि तीजा पोरा, हरेली, विश्व आदिवासी दिवस, कर्मा जयंती के अवसर पर राज्य में छुट्टी घोषित की गई है। खेल गतिविधियों का आयोजन भी कराया जा रहा है, लगातार छत्तीसगढ़ की पहचान को संरक्षित करने का प्रयास किया जा रहा है।

केशव मरकाम का दो लाख रूपए का लोन हुआ माफ-

भेंट-मुलाकात में रंजना निवासी केशव सिंह मरकाम ने बताया कि मेरे पास 18 एकड़ जमीन है, मुख्यमंत्री ने उनसे पूछा कि कितना लोन लिए थे, उन्होंने बताया कि 2018 में 2 लाख रुपए का लोन लिया था, छत्तीसगढ़ शासन द्वारा कर्ज माफी का लाभ मिला। केशव ने मुख्यमंत्री से ग्राम रंजना स्थित हॉस्पिटल में आई स्पेशलिस्ट डॉक्टर की माँग की है। दीपका निवासी मदन राज राजपूत ने बताया कि वे ग्राम जबाली में खेती करते हैं। छह एकड़ ज़मीन है, कोदो की खेती की है, 12.5 क्विंटल बेचा और 2.5 क्विंटल खाने के लिए रखा है। उन्होंने बताया कि वन विभाग 3000 रुपए प्रति क्विंटल में खेत से उठा रहा है। अब तो बल्ले-बल्ले है। सनत कुमार ने मुख्यमंत्री को बताया कि मैं बाजार गया था, वहां पर मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना के तहत नियमित रूप से गाड़ी आती है, निःशुल्क इलाज मिलता है, योजना का लाभ मिल रहा।

अंजली को पढ़ाई के लिए एक लाख रूपए की सहायता-

ग्राम बतारी की अंजली ने बताया मेरे पिता का देहांत हो चुका है, हमारी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, उन्होंने मुख्यमंत्री से आगे की पढ़ाई के लिए आर्थिक सहयोग की मांग की। अंजली बीए फर्स्ट ईयर में पढ़ती है। पिता नहीं है, चार बहन हैं, जिनमें से एक की शादी हो गई एक बहन ने पढ़ाई छोड़ दी। अंजली की बात सुनकर मुख्यमंत्री ने एक लाख रुपए का सहयोग प्रदान करने के निर्देश दिए।

महिला समूह को दोना-पत्तल बनाने मिलेगी हाइड्रोलिक मशीन-

भेंट-मुलाकात में दुर्गा ने बताया कि हम स्व-सहायता समूह के 10 सदस्य हैं, जो दोना-पत्तल बनाने का काम करती हैं। हमें और बेहतर काम करने के लिए हाइड्रोलिक मशीन की आवश्यकता है। इसे सुनकर मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को समूह को मशीन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

महिला समूह ने मुख्यमंत्री को किए रागी के लड्डू, कोदो के कुरकुरे भेंट-

मुख्यमंत्री श्री बघेल को छुरी के वृंदावन स्व-सहायता समूह की दीदीयों ने मिलेट्स से बने व्यंजन भेंट किए। समूह की महिलाओं ने मुख्यमंत्री को रागी के लड्डू, कोदो के कुरकुरे, कोदो के लड्डू, मडिया के कुकीज, कोदो के खारे कुकीज भेंटकर मिलेट्स को बढ़ावा देने के लिए आभार जताया। समूह की दीदीयों ने मिलेट्स से विभिन्न पौष्टिक व्यंजन बनाने की ट्रेनिंग देहरादून से आई ट्रेनर से शासकीय मदद पर ली है।

झूलबाई ने गोबर बेचकर खरीदी दो गाय-

भेंट-मुलाकात में झूलबाई ने बताया कि 50 हजार किलो गोबर बेचा है, इसके एवज में एक लाख रुपए मिले हैं। इस पैसे से दो गाय खरीदे हैं, अब दूध बेचते हैं। मुख्यमंत्री ने उनकी सराहना की। वर्मी कम्पोस्ट बनाने वाली बटारी गांव की ज्योति ने बताया कि एक लाख 88 हज़ार का वर्मी कम्पोस्ट बेच चुके हैं। बाड़ी में सब्ज़ी लगाए है- पैसा से मशीन खरीदे हैं और मकान का प्लास्टर कराया है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से बात करते हुए सुपोषण योजना की हितग्राही ने बताया कि नियमित रूप से योजना का लाभ मिल रहा है।

रंजना में काम कर रहा जननी महिला संकुल संगठन की महिलाओं ने मुख्यमंत्री को अपने द्वारा बनाए गए स्थानीय उत्पादों की टोकरी भेंट की। इस टोकरी में अगरबत्ती, एलईडी बल्ब, हल्दी, मिर्च, धनिया, गरम मसाला, रुई बत्ती, साबुन, हैंडवाश, रखिया बड़ी, बिजौरी, पसर चावल, हसदेव ब्रांड डिटर्जेंट, सुगंधित चावल, चिरौजी, अचार, लाई बड़ी, जुट बैग और जैविक फ्लोर क्लीनर रखे गए हैं। सभी उत्पाद महिला समूह की दीदीयों ने अपने हाथों से बनाए है। इस से उन्हें आजीविका का अतिरिक्त माध्यम मिला है। श्री बघेल ने सभी को शुभकामनाओं के साथ व्यवसाय बढ़ाने हरसंभव मदद का आश्वासन भी दिया।

Chhattisgarh