Oct 17 2021 / 8:37 AM

अपने पीओएस बिजनेस के लिए भारतपे ने की एक्सिस बैंक के साथ साझेदारी

भारत पे के पीओएस मर्चेन्ट्स को बेहतर अनुभव प्रदान करने के उद्देश्य से किया युक्तिपूर्ण गठबंधन

मुम्बई। व्यापारियों के लिए भारत की अग्रणी फिनटेक कंपनी भारतपे ने देश में निजी क्षेत्र के तीसरे सबसे बड़े बैंक एक्सिस बैंक के साथ एक रणनीतिक भागीदारी की है। इस गठबंधन के माध्यम से एक्सिस बैंक भारतपे के पीओएस (भारत स्वाइप) व्यवसाय के लिए अधिग्रहण करने वाला बैंक होगा और भारत स्वाइप का उपयोग करके भारतपे के व्यापारियों के लिए क्रेडिट और डेबिट कार्ड से भुगतान को स्वीकार करने की स्थितियों को और मजबूत बनाएगा।

इस साझेदारी से एक्सिस बैंक द्वारा पेश किए जाने वाले अपनी श्रेणी के सर्वश्रेष्ठ टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म का लाभ उठाकर भारतपे को अपने मर्चेंट अनुभव को बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी। व्यापारी अब कई अन्य सुविधाओं के साथ-साथ भुगतान संबंधी तेज प्रोसेसिंग, अधिक सुरक्षित और सरलीकृत प्लेटफ़ॉर्म का आनंद ले सकेंगे।

एक्सिस बैंक आज भारत में भुगतान स्वीकार करने वाले कारोबार में तीसरा सबसे बड़ा पीओएस एक्वायरिंग बैंक है। पूरे भारत में मेट्रो, शहरी, ग्रामीण और यहां तक कि बाड़मेर, रतलाम, कोरबा आदि जैसे दूरदराज में फैले 6,52,026 से अधिक पीओएस टर्मिनलों के स्थापित आधार के साथ, एक्सिस बैंक वर्तमान में छोटे और बड़े व्यापारियों को अपनी सेवाएं देते हुए प्रति माह लगभग 19,000 करोड़ रुपए का लेन-देन भी करता है। बेहतर तकनीकी क्षमताओं के साथ, तेज और सुरक्षित भुगतान प्रोसेसिंग के लिए एक्सिस बैंक अपने सभी भागीदारों और ग्राहकों को अनेक भुगतान मोड के माध्यम से भुगतान स्वीकार करने के साथ इसका लाभ उठाने की सुविधा भी देता है।

भारतपे ने पिछले साल भारत की पहली जीरो रेंटल और जीरो एमडीआर पीओएस मशीन के रूप में अपनी पीओएस मशीन ‘भारत स्वाइप’ को लॉन्च किया था। छोटे व्यापारियों और किराना स्टोर मालिकों की तरफ से इसे जबरदस्त रेस्पॉन्स मिला। भारत स्वाइप व्यवसाय ना सिर्फ तेजी से बढ़ा है, बल्कि अब कंपनी के समग्र भुगतान ट्रांजेक्शन प्रोसेस्ड वैल्यू (टीपीवी) में 20 प्रतिशत का योगदान भी दे रहा है। भारतपे के पास देश के 16 शहरों में 1 लाख से अधिक पीओएस मशीनों का स्थापित आधार है और यह हर महीने 1400 करोड़ रुपए से अधिक के लेनदेन की सुविधा प्रदान करता है। भारतपे ने वित्त वर्ष 2021 के अंत में ना सिर्फ पीओएस टर्मिनलों पर 2 बिलियन अमेरिकी डॉलर के वार्षिक लेनदेन का आंकड़ा पार किया, बल्कि वित्त वर्ष 2022 के अंत तक वार्षिक टीपीवी में 6 बिलियन यूएस डॉलर का लक्ष्य भी निर्धारित किया है।

इस साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए एक्सिस बैंक के ईवीपी और हैड- कार्ड्स एंड पेमेंट्स संजीव मोघे ने कहा, ‘‘हम व्यापारी समुदाय के लिए अपनी पेशकशों का विस्तार करने के लिए साझेदारी आधारित मॉडल और डिजिटल समाधानों की दिशा में लगातार काम कर रहे हैं। इस प्रयास में, हम भारतपे के साथ साझेदारी करके खुशी का अनुभव कर रहे हैं, जो देश में सबसे तेजी से बढ़ते फिनटेक ब्रांडों में से एक है। हमें यकीन है कि यह साझेदारी ना सिर्फ मौजूदा प्रणालियों में डिजिटल लेन-देन को अपनाने के लिए बढ़ावा देगी, बल्कि समाज के सभी वर्गों के लिए डिजिटल भुगतान के लिए तकनीकी पहुंच को संभव बनाकर वित्तीय समावेशन के लक्ष्य को प्राप्त करने की हमारी प्रतिबद्धता में भी सहायता करेगी। इसके अलावा, हम अन्य फिनटेक और ई-कॉमर्स कंपनियों के साथ साझेदारी करने के लिए भी तैयार हैं और इस सिलसिले में उन्हें को-ब्रांडेड पीओएस प्लस क्यूआर और कई अन्य मूल्य वर्धित सेवाएं प्रदान करके अपने क्यूआर कोड इंस्टॉलेशन पर मर्चेंट स्टिकनेस सुनिश्चित करने में मदद करना चाहते हैं।’’

इस साझेदारी के बारे में टिप्पणी करते हुए भारतपे के चीफ एक्जीक्यूटिव ऑफिसर सुहैल समीर ने कहा, ‘‘हमने अपने पीओएस व्यवसाय के लॉन्च के बाद से अभूतपूर्व वृद्धि देखी है। हमने अपनी लम्बी पारी के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाएँ निर्धारित कर रखी हैं और इसके अलावा अगले 12 महीनों में 5 करोड़ के लेनदेन को संभव बनाने के साथ पीओएस व्यवसाय को 3 गुना बढ़ाने का लक्ष्य रखा है। फिलहाल हम चालू वित्त वर्ष के अंत तक अपनी पीओएस मशीनों की संख्या को 3 लाख तक पहुंचाने का लक्ष्य बना रहे हैं। हम अपनी पहुंच को 5 गुना बढ़ाते हुए देश के 80 शहरों तक पहुंचने के बारे में विचार कर रहे हैं। हम आने वाले महीनों में अपने पीओएस उपकरणों में ग्राहक क्रेडिट पेशकशों के साथ-साथ लॉयल्टी और पुरस्कार सुविधाओं को जोड़ने की दिशा में भी काम कर रहे हैं। इन्हें हासिल करने के लिए, हम बैंकिंग और वित्तीय संस्थानों के साथ ऐसी साझेदारी तलाशेंगे, जो हमारी पेशकश को और मजबूत बना सकें। हमारा मानना है कि एक्सिस बैंक देश में ‘डिजिटल रूप से अग्रणी’ बैंकों में से एक है और हमें विश्वास है कि यह साझेदारी न केवल हमारे व्यापारियों को एक सहज पेशकश देने में मदद करेगी, बल्कि वृद्धि संबंधी हमारे अगल लक्ष्य को हासिल करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। हम आने वाले समय में उनके साथ अधिक मज़बूत साझेदारी की आशा करते हैं।’’

भारत स्वाइप व्यापारियों को स्वाइप मशीन पर विकसित डायनमिक क्यूआर के माध्यम से क्यूआर भुगतान स्वीकार करने की भी अनुमति देता है। साथ ही, क्यूआर भुगतानों के लिए फिजिकल तौर पर रसीदें उत्पन्न करने की इसकी विशेषता सबसे अधिक मांग वाली सुविधाओं में से एक है। कंपनी ने हाल ही में अपने व्यापारी भागीदारों के लिए ‘हॉलिडे सेटलमेंट्स’ फीचर भी लॉन्च किया है। यह सुविधा व्यापारियों को बैंक की छुट्टी पर भी सेटलमेंट्स स्वीकार करने की अनुमति देती है, जिससे हर समय नकदी सुनिश्चित हो सके।

भारतपे भारत की सबसे बड़ी फिनटेक कंपनी है जो एसएमई, छोटे व्यापारियों और किराना स्टोर मालिकों के लिए फाइनेंशियल टैक्नोलॉजी प्रोडक्ट्स की एक पूरी रेंज पेश करती है। शून्य लेनदेन शुल्क के साथ भारत के पहले यूपीआई क्यूआर भुगतान स्वीकृति उत्पाद के साथ देश में वित्तीय समावेशन को आगे बढ़ाने के लिए भारतपे प्रतिबद्ध है। साथ ही, भारतपे ऐसे कारोबारियों और एसएमई के लिए कर्ज की एक पूरी रेंज उपलब्ध कराता है, जिन्हें इस दिशा में बहुत कम सेवाएं हासिल हैं। कंपनी वित्त वर्ष 2022 में भी अपने उधार और भुगतान व्यवसाय के साथ-साथ नए बाजारों में अपनी मौजूदगी का विस्तार करना जारी रखेगी। कंपनी देश में सभी एसएमई के लिए एक डिजिटल बैंक बनने की इच्छा रखती है। इसने मार्च 2023 तक भुगतान (क्यूआर और स्वाइप दोनों) पर सालाना 30 बिलियन अमेरिकी डॉलर के टीपीवी तक पहुंचने और छोटे व्यापारियों के साथ 700 मिलियन डॉलर की लोन बुक का लक्ष्य रखा है।

Spread the love

Chhattisgarh