Feb 22 2024 / 5:15 PM

वाइब्रेंट गुजरात समिट: पीएम मोदी बोले- एक छोटा सा बीज, आज विशाल वट-वृक्ष बन गया है

Spread the love

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय अपने गृह राज्य गुजरात के दौरे पर हैं। अपनी यात्रा के दौरान, उन्होंने अहमदाबाद के साइंस सिटी में एक रोबोटिक प्रदर्शनी में भाग लिया और वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट का उद्घाटन किया।

वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट के 20 साल पूरे होने पर आयोजित एक कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि कि वाइब्रेंट गुजरात का छोटा-सा बीज बोया था, आज यह एक बड़ा वृक्ष बन गया है। हमारा लक्ष्य भारत को दुनिया के विकास का इंजन बनना है। भारत जल्द ही वैश्विक आर्थिक महाशक्ति बनकर उभरेगा, यह मेरी गारंटी है कि भारत कुछ वर्षों में शीर्ष तीन अर्थव्यवस्था वाले देशों में शामिल होगा।

उन्होंने वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट के 20 साल के सफर को याद करते हुए तत्कालीन केंद्र सरकार पर सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया। पीएम मोदी ने कहा कि आज दुनिया वाइब्रेंट गुजरात की सफलता देख रही है, लेकिन वाइब्रेंट गुजरात का आयोजन ऐसे माहौल में किया गया था, जब तत्कालीन केंद्र सरकार गुजरात के विकास को लेकर बेरुखी दिखाती थी।

पीएम मोदी ने कहा कि तत्कालीन सरकार के केंद्रीय मंत्रियों ने इस कार्यक्रम में भाग लेने से मना कर दिया और विदेशी निवेशकों को गुजरात में निवेश नहीं करने की धमकी दी। उन्होंने कहा, लेकिन फिर भी, निवेशक आए और उनके लिए कोई प्रोत्साहन नहीं दिया गया था। निवेशक केवल सुशासन, निष्पक्ष शासन, विकास के समान वितरण और पारदर्शी सरकार के कारण आए।

पीएम मोदी ने कहा कि 2001 में आए भीषण भूकंप से भी पहले गुजरात लंबे समय तक अकाल की स्थिति से जूझ रहा था। भूकंप से लाखों लोग प्रभावित हुए, इस बीच एक और घटना घटी गोधरा की हृदयविदारक घटना हुई और उसके बाद गुजरात हिंसा की आग में जल उठा।

पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग एजेंडा लेकर चलते थे, वे उस समय भी घटनाओं का अपने तरीके से आंकलन करने में जुटे थे। कहा गया कि गुजरात से यूथ, कारोबारी, इंडस्ट्री, सब पलायन कर जाएंगे, दुनिया में एक तरह से गुजरात को बदनाम करने की साजिश रची गई।

पीएम मोदी ने कहा कि जब गुजरात बुरे वक्त से गुजर रहा था, तब कहा गया कि गुजरात कभी अपने पैरों पर खड़ा नहीं हो पाएगा। उस संकट में मैंने संकल्प लिया कि चाहे परिस्थितियां जैसी भी हो गुजरात को इससे बाहर निकालकर रहूंगा।

पीएम मोदी ने कहा कि मैंने गुजरात को बुरे वक्त से, मुश्किलों से बाहर निकाला। उन्होंने कहा कि जब वाइब्रेंट गुजरात की शुरुआत हुई थी, तब गुजरात में कोई बड़े होटल नहीं थे जहां विदेशी मेहमान रुक सकें। यहां तक कि सरकारी मेहमान भी नहीं थे।

पीएम मोदी ने कहा कि हमने न सिर्फ गुजरात का पुनर्विकास किया बल्कि इसके भविष्य के बारे में भी सोचा। हमने इसके लिए वाइब्रेंट गुजरात को एक प्रमुख माध्यम बनाया। वाइब्रेंट गुजरात को गुजरात के आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए और दुनिया से आंख में आंख मिलाकर बात करने का एक माध्यम बनाया।

Chhattisgarh