Feb 05 2023 / 5:07 PM

एक हुए चाचा-भतीजा, प्रसपा ने सपा में किया विलय

Spread the love

मैनपुरी। उत्तर प्रदेश उपचुनाव में सपा और उसके गठबंधन के अच्छे प्रदर्शन के बाद अखिलेश यादव के चाचा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने बड़ा कदम उठाया है। शिवपाल सिंह ने अपने दल प्रसपा का विलय समाजवादी पार्टी में कर दिया है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव और प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने गुरुवार को संयुक्त रूप से सैफई में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह घोषणा की।

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) का समाजवादी पार्टी में विलय कर दिया है। 2024 में वे एकजुट होकर चुनाव लड़ने वाले हैं। उनकी कार पर समाजवादी पार्टी का झंडा होगा। शिवपाल सिंह ने कहा कि यह जीत उत्पीड़न के खिलाफ है। यह आम जनता की जीत है। उन्होंने कहा कि जनता को जितना प्रताड़ित और उत्पीड़ित किया गया है, यह उसी का जवाब है।

शिवपाल यादव ने कहा कि उन्होंने चुनाव से पहले जो बात कही थी, वह इस चुनाव परिणाम में सच हो गई है। शिवपाल यादव ने कहा कि मैंने चुनाव से पहले जो बात कही थी, वह इस चुनाव परिणाम में सच साबित हुई। उन्होंने कहा कि अब लोहियावादी अंबेडकरवादी चरण चरणसिंह वादी सभी एक हो रहे हैं। इस असर आगे भी दिखाई देगा।

गौरतलब है कि नतीजों पर शिवपाल सिंह यादव ने कहा था कि डिंपल यादव पुराने रिकॉर्ड तोड़ेंगी। उन्होंने कहा था कि जीत का श्रेय मुझे भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारा विकास का मॉडल रहा है। लोगों ने इसे देखा है। हमने विकास किया है। इस कारण जनता उनके साथ है। मैनपुरी के उपचुनाव में सपा को बड़ी जीत मिली है। डिंपल ने करीब दो लाख मतों जीत हासिल की है।

इस दौरान शिवपाल बोले, देखिए अब मुट्ठी बंध चुकी है। हम सभी एक हैं। सभी एक परिवार ही तरह हैं। मैं इसे निभाऊंगा, चाहे जैसी भी जिम्मेदारी हो। उन्होंने ऐलान किया कि प्रसपा और सपा भी एक होगी। शिवपाल ने कहा कि पूरा परिवार एक है। उन्होंने आगे कहा, मैं 2027 तक प्रदेश की राजनीति में बना रहूंगा। उन्हें राष्ट्रीय राजनीति में नहीं उतरना है, जो जिम्मेदारी उन्हें दी जाएगी, उसे वे निभाएंगे।

Chhattisgarh