Aug 13 2022 / 6:16 AM

तीस्ता सीतलवाड़ को गुजरात एटीएस ने मुंबई से किया गिरफ्तार





Spread the love

नई दिल्ली। गुजरात एटीएस ने तीस्ता सीतलवाड़, पूर्व आईपीएस संजीव भट्ट और पूर्व डीजीपी आरबी श्रीकुमार के खिलाफ फर्जी दस्तावेज बनाकर साजिश के तहत गलत प्रोसीडिंग शुरू कराने का मामला दर्ज किया है। इस मामले में तीस्ता और श्रीकुमार को हिरासत में लिया गया है, जबकि संजीव भट्ट पहले से जेल में है। तीस्ता सीतलवाड़, संजीव भट और आरबी श्री कुमार पर आरोप है कि ज़ाकिया जाफरी की याचिका को आधार बनाकर फर्जी दस्तावेजों को सही बताकर कानूनी प्रक्रिया का दुरूपयोग कर अलग-अलग कमीशन में पेश किया गया। तीस्ता सीतलवाड़ को मुंबई स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया गया है, जबकि आरबी श्रीकुमार को उनके घर गांधीनगर से और संजीव भट तो पहले से ही जेल में है।

देश की सर्वोच्च अदलत में ज़किया जाफरी की याचिका खारिज होने और सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद गुजरात एटीएस ने तीस्ता सीतलवाड़ को हिरासत में लिया और फिर बाद में गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने नए सिरे से एफआईआर की है। इसमें बताया गया है की गुजरात को बदनाम किया गया, सरकार के खिलाफ साजिश की गयी और गुजरात के तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी को बदनाम किया गया। ऐसा करने के लिए फर्जी दस्तावेज बनाए गए। अब तीस्ता को बताना होगा कि ये फर्जी दस्तावेज किसके कहने पर कहां से कैसे किसके साथ मिलकर बनाए गए? तीस्ता को बताना होगा की सरकार को बदनाम करने के पीछे की साजिश क्या थी? ये भी बताना होगा की तीस्ता के पीछे कौन लोग थे?

इस बात का इशारा सुप्रीम कोर्ट ने भी किया है कि जान बूझकर दूसरे के इशारे पर तीस्ता ने ये सब किया। सुप्रीम कोर्ट ने सीतलवाड़ पर और जांच की जरूरत बताई थी। कल सुप्रीम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा था कि किसके कहने पर सीतलवाड़ ने मोदी के खिलाफ 16 साल कैंपेन चलाया? इस मामले में स्थानीय पुलिस में केस दर्ज करने के बाद आज क्राइम ब्रांच की टीम इसकी जांच के लिए जुहू स्थित तीस्ता के बंगले पर आई और उन्हें संताक्रूज पुलिस स्टेशन लेकर आया गया, जहां कागजी कार्यवाही कर उन्हें गुजरात अहमदाबाद क्राइम ब्रांच लाया जाएगा। तीनो पर सेक्शन 468, 471, 194, 211, 218,120B के तहत मामला दर्ज किया गया।

Chhattisgarh