Aug 13 2022 / 6:18 AM

सूरत से भागकर नागपुर पहुंचे शिवसेना विधायक नितिन देशमुख, गुजरात पुलिस पर लगाया बड़ा आरोप





Spread the love

मुंबई। महाराष्ट्र में चल रहे राजनीतिक दंगल के बीच शिवसेना विधायक नितिन देशमुख बागी खेमा छोड़कर नागपुर पहुंच गए है, जहां उन्होंने जबरन बंधक बनाने के आरोप लगाए है। नागपुर पहुंचने के बाद विधायक देशमुख ने बताया, मुझे अस्पताल ले जाने के बाद 20 से 25 लोगों ने जबरन इंजेक्शन लगाया। वे इंजेक्शन क्या थे, मुझे नहीं पता। उन्होंने आगे कहा, मुझे बेहोश करने की कोशिश की गई, जिससे मैं कुछ समझ नहीं पाऊं। मैं उद्धव ठाकरे का शिवसैनिक था, शिवसेना में रहूंगा।

बता दे, मंगलवार को प्रदेश में शुरू हुई सियासी उठापटक के कुछ ही घंटो के अंदर देशमुख की पत्नी प्रांजलि ने अकोला पुलिस स्टेशन में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी। प्रांजलि ने शिकायत में कहा, उनके पति मंगलवार सुबह तक अकोला में अपने घर आने वाले थे, लेकिन सोमवार शाम से ही उनका फोन नहीं लग रहा है। मेरे पति लापता हो गए हैं और उनकी जान को खतरा है।

शिवसेना ने दावा किया है कि होटल में जब नितिन मुंबई वापस आने को लेकर हंगामा कर रहे थे, तब पुलिस अधिकारियों ने उनके साथ बदसलूकी की और उन पर हाथ भी उठाया। जानकारी के मुताबिक होटल में हंगामे के दौरान लोकल पुलिस ऑफिसर और विधायक के बीच हाथापाई हुई थी, जिसके बाद नितिन को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

सूरत के स्थानीय शिवसेना नेता परेश खेर ने कहा, नितिन देशमुख होटल से निकलकर एक चौराहे पर आ गए थे और उन्होंने हम लोगों से मुंबई जाने के लिए मदद मांगी लेकिन जब हम लोग चौराहे पर पहुंचे, तब तक उन्हें पुलिस पकड़कर होटल ले जा रही थी। हम लोग भी उनके पीछे-पीछे चल दिए, लेकिन होटल के बार हमें रोक दिया गया।

Chhattisgarh