Aug 13 2022 / 6:45 AM

राहुल गांधी का मोदी सरकार पर निशाना, कहा- संस्थानों पर कब्जा कर हिटलर भी चुनाव जीत जाता था





Spread the love

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज महंगाई, जीएसटी और ईडी के बेजा इस्तेमाल पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। राहुल ने हिटलर से लेकर तानाशाही का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि चुनाव तो हिटलर भी जीत जाता था क्योंकि उसके कब्जे में सारी संस्थाएं थीं। राहुल ने कहा कि आज देश में लोकतंत्र बस यादों में रह गया है। देश में तानाशाही चल रही है।

राहुल यहीं नहीं रुके उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा कि क्या आप तानाशाही के मजे ले रहे हैं? कांग्रेस नेता ने कहा कि वह नरेंद्र मोदी नहीं डरते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि मौजूदा सरकार गांधी परिवार पर हमला इसलिए करती है क्योंकि हम एक विचारधारा के लिए लड़ते हैं। हम लोकतंत्र के लिए लड़ते हैं। सांप्रदायिक सदभाव के लिए लड़ते हैं। जान दी है मेरे परिवार ने।

राहुल गांधी ने कहा कि आज देश में लोकतंत्र की मौत हो रही है। जो देश ने 70 साल में बनाया उसको 8 साल में खत्म कर दिया गया है। आज देश में लोकतंत्र नहीं है। आज देश में 4 लोगों की तानाशाही है। हम महंगाई का मुद्दा उठाना चाहते हैं। समाज को बांटा जा रहा है। हम इसके खिलाफ चर्चा करना चाहते हैं। यह बात सांसद में उठाना चाहते हैं लेकिन हमें बोलने नहीं दिया जाता है। ये देश की हालत हो गई है।

राहुल ने कहा कि मेरी दिक्कत ये है कि मैं सच्चाई बोलूंगा, महंगाई, बेरोजगारी का मुद्दा उठाने का काम करूंगा। जो डरता है, वो धमकाता है। जो आज देश की हालत है उससे डरते हैं, जो उन्होंने पूरे नहीं किए, महंगाई और बेरोजगारी से डरते हैं। जनता की शक्ति से डरते हैं। क्योंकि ये 24 घंटा झूठ बोलते हैं। चीन नहीं आया क्या?

राहुल गांधी ने कहा कि जर्मनी में हिटलर भी चुनाव जीत जाता था। उन्होंने कहा कि हिटलर चुनाव कैसे जीत जाता था? क्योंकि जर्मनी के पूरे संस्थान थे उसके पास। पैरामिलिटरी थी, पूरा का पूरा ढांचा था। राहुल ने कहा कि मुझे पूरा का पूरा ढांचा दे दो तो मैं आपको बताऊंगा कैसे जीता जाता है।

राहुल गांधी ने कहा कि उनके डराने से हम नहीं डरने वाले हैं। उन्होंने कहा कि गांधी परिवार लोकतंत्र के लिए लड़ता है। वो डराने की कोशिश करेंगे लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ेगा। चीनी सेना देश में आकर कब्जा करती है लेकिन इसपर कोई चर्चा नहीं होती है। अग्निपथ पर कोई चर्चा नहीं है।

राहुल ने कहा कि मैं ऊपर हुए हमले से सीखता हूं। उन्होंने कहा कि आज देश में लोकतंत्र बस याद भर रह गई है। उन्होंने कहा कि मेरा काम आरएसएस के आइडिया को रोकना है। मैं जितना हमला करूंगा मुझे घेरने की कोशिश होगी। ईडी ने जो मुझसे पूछताछ की है उस अधिकारी से जाकर पूछ लीजिए न।

राहुल गांधी ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष संस्थानों के बल पर लड़ती है। विपक्ष देश के लीगल, जूडिशल, इलेक्टोरल स्ट्रक्चर के जरिए लड़ती है। आज वो सब संस्थान सरकार को पूरा सपोर्ट दे रही है। क्योंकि यहां सरकार के लोग इन संस्थान के अंदर बैठा हुआ है। हर संस्थान में आरएसएस का एक व्यक्ति बैठा है। हम एक राजनीतिक पार्टी से नहीं बल्कि हम हिंदुस्तान के इंफ्रास्ट्रक्चर के खिलाफ लड़ रहे हैं। जब हमारी सरकार थी तो हम इंफ्रास्ट्रक्चर को अलग रखते थे। दो तीन पार्टियों की लड़ाई होती थी। अगर कोई दूसरी राजनीतिक दल को सपोर्ट को करना चाहे तो उसके खिलाफ ईडी लगा दी जाती है। इसलिए विपक्ष आक्रामक तरीके से खड़ी हो रही है लेकिन असर नहीं दिख रहा है।

राहुल ने कहा कि महंगाई की हालत से आज देश बुरी तरह से प्रभावित हैं। गैस सिलेंडर का दाम बढ़ गया है। कहते हैं स्टार्टअप इंडिया। आप मुझे दिखाओ स्टार्टअप इंडिया लोगों को फायर कर रहा है। लोगों को सड़क पर फेंक रही है। कोविड ने हिंदुस्तान में कोई नहीं मरा, हेल्थ में भारत का प्रदर्शन दुनिया में सबसे बेहतर था। यूएन कह रही है कि 5 मिलियन लोग मर गए। आप कह रहे हैं कि नहीं मरे हैं। देश की सरकार कहती है कि ये सच्चाई नहीं है। महंगाई बढ़ती जा रही है, वित्त मंत्री कहते हैं कि नहीं कोई महंगाई नहीं है।

Chhattisgarh