Aug 09 2022 / 5:23 PM

राहुल गांधी का मोदी सरकार पर निशाना, कहा- रुपया पहुंचा 80 पार, गैस वाला मांगे रुपये हजार





Spread the love

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर महंगाई और बेरोजगारी को लेकर सरकार पर हमला किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा है कि रुपया पहुंचा 80 पार, गैस वाला मांगे रुपये हज़ार, जून में 1.3 करोड़ बेरोज़गार, अनाज पर भी जीएसटी का भार। जनता के मुद्दे उठाने से हमें कोई रोक नहीं सकता, सरकार को जवाब देना ही पड़ेगा। संसद में चर्चा और सवालों से भागना सबसे ‘असंसदीय’ है, प्रधानमंत्री जी।

कांग्रेस नेता ने इससे पहले एक फेसबुक पोस्ट में कहा, अबकी बार, वसूली सरकार? अब से दूध, दही, मक्खन, चावल, दाल, ब्रेड जैसे पैक्ड उत्पादों पर जनता से 5 प्रतिशत जीएसटी वसूला जाएगा। राहुल गांधी ने कहा, रोज़मर्रा की खाने-पीने की चीजें महंगी हो गईं, गैस सिलेंडर 1053 रुपये का हो गया लेकिन सरकार कहती है ‘सब चंगा सी’। मतलब, यह महंगाई जनता की समस्या है, सरकार की नहीं।

वहीं कांग्रेस ने आज महंगाई, बेजरोजगारी, जीएसटी और अग्निपथ स्कीम को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। इस विरोध प्रदर्शन में राहुल गांधी ने भी हिस्सा लिया और बैनर पकड़े नजर आए। उधर विपक्ष के हंगामे के बाद संसद में लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही को दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया था।

दरअसल मल्लिकार्जुन खड़गे ने इन्ही मुद्दों पर चर्चा के लिए नोटिस दिया था जिसे स्वीकार नहीं किया गया। महंगाई, बेरोजगारी, जीएसटी और अग्निपथ स्कीम को लेकर कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन में विपक्ष के नेता भी शामिल हुए।

कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के अलावा इस विरोध प्रदर्शन में राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, समाजवादी पार्टी से रामगोपाल यादव, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से सुप्रिया सुले, शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी और कई अन्य विपक्षी सांसद इस धरना प्रदर्शन में शामिल हुए।

इन सांसदों ने दूध-दही पर जीएसीटी वापस लो के नारे लगाए। बता दें कि सरकार ने सोमवार से कई खाद्य वस्तुओं पर जीएसटी लगा दिया है जिससे चीजें महंगी हो गई है। इनमें पैकिंग और लेबल वाले खाद्य पदार्थ जैसे आटा, पनीर और दही शामिल हैं, जिन पर 5 प्रतिशत जीएसटी देना होगा।

Chhattisgarh