Aug 09 2022 / 4:31 PM

पीएसआई घोटाले को लेकर राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, कहा- भाजपा सरकार की ‘सब खाएंगे, सबको खिलांगे’ की नीति





Spread the love

नई दिल्ली। कर्नाटक हाई कोर्ट के जज के बयान पर बीजेपी सरकार कटघरे में आ गई है। दरअसल कर्नाटक हाई कोर्ट के जज एचपी संदेश ने आरोप लगाया है कि उन्हें पीएसआई घोटाले ट्रांसफर मामले को लेकर धमकी दी गई थी। इस मामले में अब विपक्ष सत्तापक्ष पर हमलावर हो गई है। इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर केंद्र और राज्य सरकार को आड़े हाथ लेते हुए तंज कसा है।

बता दें कि पीएसआई घोटाले को लेकर कर्नाटक हाई कोर्ट के जज एचपी संदेश के बयान के बाद कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने हमला करते हुए ट्वीट के जरिए राज्य सरकार और पीएम मोदी पर हमला किया है।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार खुले में ‘नौकरियों की बिक्री’ में भ्रष्टाचार कर हजारों युवाओं के सपनों को खत्म कर दिया है। वायनाड से सांसद राहुल ने आगे कहा कि सीएम, जो उस वक्त एच एम को किसी भी निष्पक्ष जांच के लिए बर्खास्त किया जाना चाहिए।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आगे पीएसआई घोटाले को लेकर पीएम मोदी पर तंज कसा है. उन्होंने सवाल करते हुए लिखा कि पीएम मोदी ने कोई कार्रवई क्यों? क्या भाजपा सरकार ‘सब खाएंगे, सबको खिलांगे’ ये नीति अपना रही हैं।

जस्टिस संदेश ने ये बड़ा खुलासा उस समय किया जब वे पूर्व तहसीलदार महेश पीएस की बैल की सुनवाई कर रहे थे। बता दें कि पूर्व तहसीलदार 5 लाख की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़े गए थे। महेश ने अपने स्टेटमेंट में कहा कि ये रिश्वत उन्होंने बेंगलुरु के डीसी मंजूनाथ के कहने पर ली थी। जिसके बाद एसीबी ने आईएएस मंजूनाथ को भी गिरफ्तार किया है।

बता दें कि इस मामले से जुड़ी एक वीडियो में जस्टिस संदेश को ये कहते सुना जा सकता है कि उन्हें एक जज ने बताया था कि उनके ऑर्डर से एडीजीपी कुछ खुश नहीं है। ऐसे में उनका ट्रांसफर किया जा सकता है। एडीजीपी बहुत पावरफुल है। खैर इस सुनवाई के दौरान जस्टिस संदेश ने यह भी साफ कहा कि वो अपने पोस्ट को खोने से नहीं डरते। मैं किसी पार्टी से ताल्लुक नहीं रखता। मैं एक किसान का बेटा हूं। मैं केवल संविधान को जवाबदेह हूं।

Chhattisgarh