Aug 09 2022 / 5:22 PM

श्रीलंका: प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति भवन पर किया कब्जा, राष्ट्रपति राजपक्षे आवास छोड़कर भागे





Spread the love

नई दिल्ली। श्रीलंका में जारी आर्थिक संकट के बीच जनता का गुस्सा अब तक शांत नहीं हुआ है। देशभर में तेल और बाकी जरूरत के सामान की कमी के बीच लोग एक बार फिर सड़कों पर हैं। प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने शनिवार को राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे के इस्तीफे की मांग के साथ उनके आवास का घेराव कर लिया।

खबर ये भी है कि प्रदर्शनकारियों ने राजपक्षे के आवास में तोड़फोड़ की है। बता दें कि आर्थिक संकटों से जूझ रहे श्रीलंका की हालत लगातार खराब होती जा रही है। यही वजह है कि प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं और इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

श्रीलंका आर्थिक संकट से जूझ रहा है, जिसकी वजह से कई परिवारों को भोजन भी नहीं मिल पा रहा है। वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही हैं। बुधवार को जारी विश्व खाद्य कार्यक्रम के ताजा आंकलन के मुताबिक, करीब 62 लाख लोगों को भोजन कैसे मिलेगा, इस सवाल का जवाब किसी के पास नहीं है। श्रीलंका में 10 में से तीन परिवारों को इस बात का भी पता नहीं है कि उन्हें अगला भोजन कब और कहां मिलेगा।

श्रीलंका में खाने की चीजें बेहद महंगी हो गई हैं। ईंधन की कीमतें आसमान छू रही हैं। देश में लगभग 61 फीसदी परिवार केवल इसी बात का कैलकुलेशन कर रहे हैं कि उनके पास कितने दिन का भोजन बचा है। आर्थिक तंगी की वजह से लोग पौष्टिक भोजन भी नहीं ले पा रहे हैं। पोषण की कमी से गर्भवती महिलाओं के लिए जीना मुश्किल हो गया है।

राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के इस्तीफे की मांग को लेकर शनिवार को बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन होने वाला था। ऐसे में श्रीलंका की पुलिस ने पश्चिमी प्रांत में कई पुलिस डिवीजनों में कर्फ्यू लगा दिया था। हालांकि श्रीलंका में बढ़ते दबाव के बाद पुलिस ने शनिवार को ही कर्फ्यू हटाया था। ये कर्फ्यू सरकार विरोधी प्रदर्शनों को रोकने के लिए कोलंबो सहित देश के पश्चिमी प्रांत में सात संभागों में लगाया गया था। पुलिस ने शुक्रवार को कहा था कि जिन क्षेत्रों में पुलिस का कर्फ्यू लगा है, वहां के लोग अपने घरों में रहें। कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Chhattisgarh