Sep 27 2022 / 6:07 AM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेच रहे हैं घी! एक कंपनी ने की पीएम के फोटो के साथ शर्मनाक हरकत

Spread the love

प्योरश्योर कंपनी ने प्रधानमंत्री से बिकवाए अपने उत्पाद, बिना पीएमओ की इजाजत किया पीएम के फोटो का कमर्शियल इस्तेमाल

इंदौर। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन 17 सितंबर को पूरे देश में मनाया गया। उनके प्रसंशकों और समर्थकों ने उन्हें बधाइयां दी और कई कार्यक्रमों का आयोजन किया। वहीं एक नामी कंपनी ने नियम के विरुद्ध जाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो का कमर्शियल इस्तेमाल कर अपनी कंपनी की ब्रांडिंग और उत्पादों का प्रमोशन भी किया। दरअसल, डेयरी उत्पाद बनाने वाली प्योरश्योर कंपनी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जन्मदिन पर बधाई संदेश देते हुए बिना प्रधानमंत्री कार्यालय की अनुमति के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो का इस्तेमाल अपने प्रोडक्ट के साथ किया। कंपनी के कर्ताधर्ताओं ने इस शर्मनाक हरकत से प्रधानमंत्री की छवि को धूमिल किया है। देश की प्रतिष्ठा पर दाग लगाया। सभी नियम और कानून ताक पर रख प्योरश्योर कंपनी के संचालक और मार्केटिंग टीम ने डिजिटल प्लेटफार्म पर बेशर्मी के साथ इस क्रिएटिव को शेयर किया तथा जनता को भ्रमित करने का प्रयास किया, कंपनी ने प्रधानमंत्री मोदी के फोटो का क्रिएटिव (डिजिटल विज्ञापन) में प्रयोग कर बधाई संदेश देने के साथ-साथ अपनी ब्रांडिंग और प्रमोशन में भी इस्तेमाल किया। जनता से सरोकार रखना वाला न्यूज पोर्टल खबरदार हमेशा सच की आवाज उठाता है जनता के सामने खबरों के पीछे का सच लाता है। अब खबरदार प्योर श्योर के संचालकों और मार्केटिंग टीम के इस कृत्य को प्रधानमंत्री कार्यालय तक पहुंचाएगा। जिससे पीएम की छवि को खराब करने वाले इस कंपनी के कर्ताधर्ताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा सकें। जिससे भविष्य में इस कंपनी के साथ-साथ अन्य कोई कंपनी भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो का गलत इस्तेमाल नहीं हो सके।

यह है कंपनी के क्रिएटिव (डिजिटल विज्ञापन) में
दरअसल डेयरी प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी प्योरश्योर ने प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर बधाई संदेश देते हुए एक क्रिएटिव तैयार किए जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री की बड़ी दाढ़ी वाले फोटो का इस्तेमाल किया जिसमें वह हाथ जोड़े खड़े है। साथ ही कंपनी ने अपने सभी उत्पादों का फोटो प्रधानमंत्री के पास लगाए है। इसे देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि पीएम इन उत्पादों के उपयोग करने के लिए अपील कर रहे है।

Chhattisgarh