Feb 22 2024 / 3:57 PM

फिलिस्तीन के राष्ट्रपति से पीएम मोदी ने की बात, कहा- भारत मानवीय सहायता भेजना जारी रखेगा

Spread the love

नई दिल्ली। पीएम मोदी ने गुरुवार को इजरायल-हमास युद्ध के बीच फिलिस्तीनी प्राधिकरण के राष्ट्रपति महमूद अब्बास से बातचीत की। उन्होंने गाजा अस्पताल में मिसाइल हमले में नागरिकों की मौत के लिए राष्ट्रपति महमूद अब्बास के प्रति संवेदना व्यक्त की।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार, पीएम ने इजरायल-फिलिस्तीन मुद्दे पर भारत की लंबे समय से चली आ रही सैद्धांतिक स्थिति को दोहराया और फिलिस्तीनी राष्ट्रपति से कहा कि भारत नागरिकों के लिए मानवीय सहायता भेजना जारी रखेगा। वहीं, फोन पर बातचीत में पीएम मोदी ने अब्बास के साथ क्षेत्र में आतंकवाद, हिंसा और बिगड़ती सुरक्षा स्थिति पर भारत की चिंता साझा की।

मंगलवार को गाजा के अल-अहली अरब अस्पताल में हुए विस्फोट में लगभग 500 लोगों के मारे जाने की खबर है, जिसकी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कड़ी निंदा हुई है। फिलिस्तीनी अधिकारियों ने अस्पताल में विस्फोट के लिए इजरायली हवाई हमलों को दोषी ठहराया, जबकि इजरायल ने इससे साफ इनकार कर दिया।

पीएम मोदी ने मंगलवार को ‘एक्स’ पर कहा कि गाजा के अल-अहली अस्पताल में लोगों की दुखद क्षति से गहरा सदमा लगा। पीड़ितों के परिवारों के प्रति हमारी हार्दिक संवेदना है। चल रहे संघर्ष में नागरिकों की हताहत होना गंभीर और निरंतर चिंता का विषय है। इसमें शामिल लोगों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।

बता दें कि इजरायल गाजा पर लगातार बम बरसा रहा है। निर्दोष नागरिकों को उत्तर से दक्षिण की ओर जाने के लिए पहले ही विंडो दे दिया गया था। काफी हद तक लोगों ने गाजा के उत्तरी इलाके से दक्षिण की ओर शिफ्ट हो गए हैं। इजरायल अब डोर-टू-डोर ऑपरेशन को अंजाम दे रहा है। उधर हमास इजरायल युद्ध में अमेरिका की एंट्री से रूस बौखला गया है। अब पुतिन ने मिस्र के रास्ते गाजा को मदद करनी शुरू कर दी है। रूस ने पहली खेप में 27 टन मानवीय सहायता भेजा है।

Chhattisgarh