Nov 27 2022 / 4:43 AM

‘नो मनी फॉर टेरर’ सम्मेलन में बोले पीएम मोदी- भारत आतंकवाद को उखाड़ फेंकने तक चैन से नहीं बैठेगा

Spread the love

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यानी शुक्रवार को ‘नो मनी फॉर टेरर’ मंत्रिस्तरीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भारत आतंकवाद से निपटने के लिए हमेशा दृढ़ रहा है। पीएम मोदी ने पाकिस्तान पर अप्रत्यक्ष रूप से कटाक्ष भी किया। उन्होंने कहा कि कुछ देश अपनी विदेश नीति के तहत आतंक का समर्थन करते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कुछ देश अपनी विदेश नीति के हिस्से के रूप में आतंकवाद का समर्थन करते हैं। इन देशों को अलग-थलग कर देना चाहिए। कोई अगर और मगर नहीं हो सकता है। अंतरराष्ट्रीय संगठनों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि आतंकवादियों से लड़ना और आतंकवाद से लड़ना दो अलग-अलग पहलू हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवादियों को हथियारों से बेअसर किया जा सकता है, लेकिन आतंकवाद को खत्म करने के लिए एक बड़ी सक्रिय प्रतिक्रिया की जरूरत है। हम तब तक इंतजार नहीं कर सकते जब तक कि आतंक हमारे पास न आ जाए। उन्होंने कहा, ‘हमने हजारों बेशकीमती जानें गंवाईं लेकिन हमने आतंकवाद का बहादुरी से मुकाबला किया है। हम आतंक से निपटने में दृढ़ रहे हैं। हम मानते हैं कि एक भी हमला बहुत अधिक है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आतंकवाद के वित्तपोषण और भर्ती के लिए नई प्रकार की तकनीक का उपयोग किया जा रहा है। नई वित्त प्रौद्योगिकियों के लिए एक समान समझ की आवश्यकता है। कई बार मनी लॉन्ड्रिंग और वित्तीय अपराधों जैसी गतिविधियों को भी आतंकी फंडिंग में मदद करने के लिए जाना जाता है। ऐसे जटिल माहौल में, UNSC और फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) आतंकवाद के खिलाफ युद्ध में मदद कर रहे हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज तीसरे ‘नो मनी फॉर टेरर’ (NMFT) मंत्रिस्तरीय सम्मेलन में शामिल हुए। अप्रैल 2018 में पेरिस में और नवंबर 2019 में मेलबर्न में ये सम्मेलन पहले आयोजित किया जा चुका है। सम्मेलन का तीसरा संस्करण दिल्ली में 18 और 19 नवंबर को आयोजित किया गया है।

Chhattisgarh