Nov 27 2022 / 1:58 AM

चिंतन शिविर में बोले पीएम मोदी- एक छोटी सी फेक न्यूज देश में बड़ा बवाल मचा सकती है

Spread the love

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश में त्योहारों का सीजन चल रहा है। हर राज्य एक दूसरे से अच्छे कार्यों को सीखें और देश के लिए एक साथ मिलकर काम करें। पीएम मोदी ने राज्यों के गृह मंत्रियों से संवाद के दौरान ये बातें कही। बता दें कि देश की आतंरिक सुरक्षा को लेकर चिंतन शिविर आयोजित किया गया है जिसमें पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए।

बता दें कि आठ राज्यों के मुख्यमंत्री और 16 राज्यों के गृह मंत्री और उपमुख्यमंत्री इस कार्यक्रम में एकत्रित हुए, जिसकी अध्यक्षता केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कर रहे हैं। चिंतन शिविर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज फर्जी खबरों के खिलाफ जागरूकता पैदा करने की आवश्यकता पर जोर दिया है।

पीएम मोदी ने कहा कि सोशल मीडिया को कम करके नहीं आंका जा सकता है और एक छोटी सी फेक न्यूज देश में बड़ा बवाल मचा सकती है। पीएम ने इसी के साथ लोगों से खास अपील करते हुए सोशल मीडिया पर संदेश साझा करने से पहले तथ्यों की जांच करने को कहा है। क्योंकि गलत खबरों के जाल में फंस कर अक्सर लोग गलतफहमी का शिकार हो जाते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि कानून का पालन करने वाले नागरिकों की सुरक्षा और अधिकारों के लिए नकारात्मक ताकतों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हमारी जिम्मेदारी है। फर्जी समाचार देशभर में एक तूफान ला सकती है। पीएम ने आगे कहा कि हमें लोगों को कुछ भी फॉरवर्ड करने से पहले सोचना होगा, विश्वास करने से पहले सत्यापित करना होगा। वेरीफाइड सोर्स से खबर शेयर करने पर गलत जानकारी दूसरा पहुंचने की संभावना कम हो जाती है।

पीएम मोदी ने कहा कि देश में संदेशों को फॉरवर्ड करने से पहले उन्हें सत्यापित करने के लिए सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध विभिन्न तंत्रों के बारे में लोगों को जागरूक किया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि फर्जी खबरों की तथ्यों की जांच जरूरी है। प्रौद्योगिकी इसमें एक बड़ी भूमिका निभाती है। लोगों को संदेशों को फॉरवर्ड करने से पहले उन्हें सत्यापित करने के तंत्र से अवगत कराया जाना चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा कि आज कल देश में उत्सव का माहौल है। ओणम, दशहरा, दुर्गापूजा और दीपावली सहित अनेक उत्सव शांति और सौहार्द के साथ देशवासियों ने मनाएं हैं। अभी छठ पूजा सहित कई अन्य त्योहार भी हैं। विभिन्न चुनौतियों के बीच इन त्योहारों में देश की एकता का सशक्त होना, आपकी तैयारियों का भी प्रतिबिंब है।

पीएम मोदी ने कहा कि आजादी का अमृतकाल हमारे सामने हैं। आने वाले 25 वर्ष देश में एक अमृत पीढ़ी के निर्माण के हैं। ये अमृत पीढ़ी ‘पंच प्राणों’ के संकल्पों को धारण करके निर्मित होगी। उन्होंने कहा कि संविधान में भले कानून और व्यवस्था राज्यों का दायित्व है, लेकिन ये देश की एकता-अखंडता के साथ भी उतने ही जुड़े हुए हैं, हर एक राज्य एक दूसरे से सीखें, एक दूसरे से प्रेरणा लें।

पीएम मोदी ने ‘एक राष्ट्र, एक पुलिस वर्दी’ का विचार भी पेश किया और कहा कि राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को इस पर चर्चा करनी चाहिए कि क्या यह संभव है।

पीएम मोदी ने कहा कि कई बार केंद्रीय एजेंसियों को कई राज्यों में एक साथ जांच करनी पड़ती है, दूसरे देशों में भी जाना पड़ता है, इसलिए हर राज्य का दायित्व है कि चाहे राज्य की एजेंसी हो, चाहे केंद्र की एजेंसी हो, सभी एजेंसियों को एक-दूसरे को पूरा सहयोग देना चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा कि साइबर क्राइम हो या फिर ड्रोन टेक्नोलॉजी का हथियारों और ड्रग्स तस्करी में उपयोग, इनके लिए हमें नई टेक्नोलॉजी पर काम करते रहना होगा। स्मार्ट टेक्नोलॉजी से कानून-व्यवस्था को स्मार्ट बना पाना संभव होगा।

Chhattisgarh