Aug 09 2022 / 4:52 PM

विपक्ष के हंगामे के चलते लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही सोमवार तक स्थगित





Spread the love

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र में विपक्ष का लगातार हंगामा जारी है। आज एक बार फिर राज्यसभा और लोकसभा में जमकर हंगामा हुआ, जैसे ही दिन की कार्यवाही शुरू हुई, विपक्षी सांसद हंगामा करने लगे। इसके चलते राज्यसभा व लोकसभा को पहले दोपहर 12 बजे तक स्थगित किया गया। जैसे ही दोबारा कार्यवाही शुरू हुई, फिर से हंगामा शुरू हो गया, जिसके बाद दोनों सदनों की कार्यवाही को सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

बता दें कि ये हंगामा कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी के राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर इस्तेमाल किए गए आपत्तिजनक शब्द पर हो रहा है। भारतीय जनता पार्टी अधीर के राष्ट्रपत्नी बयान को लेकर कांग्रेस पर हमलावर है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के लिए आपत्तिजनक शब्द के इस्तेमाल को लेकर कांग्रेस पार्टी घिरती नजर आ रही है। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के राष्ट्रपत्नी बयान पर कल लोकसभा में जमकर हंगामा हुआ। भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस के खिलाफ पूरी तरह मोर्चा खोल दिया है और सोनिया गांधी से माफी की मांग कर रही है।

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा, कल संसद में मेरे खिलाफ हंगामा हो रहा था, लेकिन मुझे जवाब देने का मौका ही नहीं दिया गया। उन्होंने कहा, कल जिस तरह से सोनिया गांधी पर निशाना साधा गया, उस पर सरकार को काफी मांगनी चाहिए। जो विवाद हो रहा है, उसके केंद्र में मै हूं। इसके बावजूद भाजपा सोनिया गांधी पर हमला कर रही है। उन्होंने कहा, मैंने ससंद में अपना जवाब देने के लिए मौका मांगा है।

बता दें कि अधीर रंजन के बयान को लेकर कल लोकसभा में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच नोंक-झोंक हुई। दोनों नेताओं के बीच करीब 2 से 3 मिनट तक बहस हुई है। इसी दौरान केन्द्रीय मंत्री वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर सदन के अंदर बीजेपी नेताओं को धमकाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि जब बीजेपी सांसद रमा देवा से सोनिया गांधी की बात हो रही थी, उस वक्त कांग्रेस अध्यक्ष ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को कहा-आई डॉन्ट वान्ट टू टॉक टू यू यानी मैं आपसे बात नहीं करना चाहती हूं।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अधीर रंजन की टिप्पणी पर कहा कि जब से द्रौपदी मुर्मू का नाम राष्ट्रपति के उम्मीदवार के रूप में घोषित हुआ तब से ही द्रौपदी मुर्मू कांग्रेस पार्टी की घृणा और उपहास का शिकार बनीं। कांग्रेस पार्टी ने उन्हें कठपुतली कहा। उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस आज भी इस बात को स्वीकार नहीं कर पा रही कि एक आदिवासी महिला इस देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद को सुशोभित कर रही हैं। सोनिया गांधी द्वारा नियुक्त नेता सदन अधीर रंजन ने द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्र की पत्नी के रूप में संबोधित किया।

Chhattisgarh