Oct 06 2022 / 10:13 PM

झारखंड: हेमंत सोरेन सरकार ने जीता विश्वास मत, पक्ष में पड़े 48 वोट

Spread the love

रांची। झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने आज विधानसभा में विश्वास मत जीत लिया है। वहीं, इस दौरान मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी ने सदन से वॉकआउट किया। हेमंत सरकार के पक्ष में कुल 48 वोट पड़े हैं। इसके साथ ही झारखंड विधानसभा की कार्यवाही को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विधानसभा में अपना विश्वास मत रखते हुए कहा कि विपक्ष इस प्रस्ताव को ध्यान से सुनें और मैदान छोड़कर बाहर न जाएं। सीएम सोरेन ने कहा कि मैं एक आंदोलनकारी का बेटा हूं। इनसे कभी डरने वाला नहीं हूं। न डरा हूं और ना ही किसी को भी डराऊंगा। विधानसभा में सोरेन ने आगे कहा कि विपक्ष ने लोकतंत्र को नष्ट कर दिया है। वो विधायकों को खरीदने की बात करती है। आज हम इनको सदन में अपनी ताकत दिखाएंगे।

सीएम सोरेन के बयान पर पलटवार करते हुए भाजपा नेता नीलकंठ मुंडा ने कहा कि झारखंड के लोगों का मानना है कि महागठबंधन सरकार डर में है। विपक्ष, न्यायपालिका या राज्यपाल में से किसी ने भी इनसे विश्वास मत नहीं मांगा, फिर ये डर क्यों? ये विस्वास प्रस्ताव दिखाता है कि हेमंत सरकार को अपने विधायकों पर भरोसा नहीं है। सरकार सिर्फ मुस्लिम तुष्टिकरण में लगी हुई है। राज्य की बेटियों पर अत्याचार हो रहा है, लेकिन इनको कोई फर्क नहीं पड़ता है।

बता दें कि लाभ के पद के मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को विधानसभा से अयोग्य ठहराने की भाजपा की याचिका के बाद, चुनाव आयोग (ईसी) ने 25 अगस्त को राज्यपाल रमेश बैस को अपना फैसला भेजा था, जिससे राज्य में राजनीतिक संकट पैदा हो गया है। हालांकि चुनाव आयोग के फैसले को अभी तक आधिकारिक नहीं किया गया है, लेकिन चर्चा है कि चुनाव आयोग ने एक विधायक के रूप में मुख्यमंत्री की अयोग्यता की सिफारिश की।

Chhattisgarh