Feb 06 2023 / 2:34 PM

औरंगजेब के आतंक के खिलाफ गुरु गोविंद सिंह पहाड़ की तरह खड़े थे: पीएम मोदी

Spread the love

नई दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नया भारत दशकों पुरानी हुई भूल को सुधार रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के अमृतकाल में ‘देश ने गुलामी की मानसिकता से मुक्ति’ का प्राण फूंका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली में वीर बाल दिवस के मौके पर दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि भारत को भविष्य में सफलता के शिखरों तक लेकर जाना है, तो हमें अतीत के संकुचित नजरियों से भी आजाद होना होगा।

बता दें कि वीर बाल दिवस पर गुरु गोबिंद सिंह जी के छोटे साहिबजादों, बाबा जोरावर सिंह और बाबा फतेह सिंह और माता गुजरी के असाधारण साहस और बलिदान को याद किया गया। पीएम मोदी कहा कि साहिबजादों ने इतना बड़ा बलिदान और त्याग किया। अपना जीवन न्यौछावर कर दिया, लेकिन इतनी बड़ी शौर्यगाथा को भुला दिया गया। पीएम मोदी ने कहा कि अब देश के स्वाधीनता संग्राम के इतिहास को पुनर्जीवित करने का प्रयास हो रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि वीर बाल दिवस हमें याद दिलाएगा कि दस गुरुओं का योगदान क्या है। देश के स्वाभिमान के लिए सिख परंपरा का बलिदान क्या है। वीर बाल दिवस हमें बताएगा कि भारत क्या है, भारत की पहचान क्या है। उन्होंने कहा कि उस दौर की कल्पना करिए, औरंगजेब के आतंक के खिलाफ, भारत को बदलने के उसके मंसूबों के खिलाफ, गुरु गोविंद सिंह जी पहाड़ की तरह खड़े थे लेकिन, जोरावर सिंह साहब और फतेह सिंह साहब जैसे कम उम्र के बालकों से औरंगजेब और उसकी सल्तनत की क्या दुश्मनी हो सकती थी?

Chhattisgarh