Aug 19 2022 / 7:26 AM

श्रीलंका में लगा आपातकाल, बेकाबू हुए हालात, प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए हवाई फायरिंग





Spread the love

कोलंबों। श्रीलंका में हालात बेकाबू हो गए हैं। गोटाबाया राजपक्षे के देश छोड़ने की खबर लगते ही जनता सड़क पर उतर गई है। कोलंबो में प्रधानमंत्री के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन को देखते हुए बड़ी संख्या में सैन्य कर्मियों की तैनाती की गई है। मौके पर पहुंचे प्रदर्शनकारी सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। देश में इमरजेंसी लगा दी गई है। कोलंबो में प्रदर्शनकारियों के श्रीलंका प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर बढ़ता देख सुरक्षाकर्मियों ने उनपर आंसू गैस के गोले दागे।

इस बीच श्रीलंका में विदेश मंत्रालय के पूर्व सलाहकार हरीम पीरिस ने कहा, हमें उम्मीद है कि निहत्थे प्रदर्शनकारियों के ऊपर हथियार नहीं उठाएंगे क्योंकि अगर ऐसा हुआ तो वह कानून का घोर उल्लंघन होगा।

राष्ट्रपति के देश से भागने के बाद नाराज प्रदर्शनकारी सड़को पर उतर गए है। वो संसद भवन की ओर कूच कर रहे हैं। कई जगह पर सैन्यबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प भी हो रही है। श्रीलंकाई मीडिया के अनुसार सेना हेलीकॉप्टर से प्रदर्शनकारियों पर नजर रख रही है।

बता दें कि इससे पहले मुश्किलों में घिरे श्रीलंका को छोड़कर राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे आज सुबह भाग गए। वो अपनी पत्नी और दो सुरक्षाकर्मियों के साथ श्रीलंका वायुसेना के विमान से मालदीव पहुंच गए है। श्रीलंकाई मीडिया के अनुसार राष्ट्रपति राजपक्षे, उनकी पत्नी और दो अंगरक्षकों ने बुधवार तड़के एंटोनोव-32 सैन्य विमान से श्रीलंका के मुख्य अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से उड़ान भरी। मालदीव की राजधानी माले पहुंचने पर उन्हें पुलिस सुरक्षा में एक अज्ञात स्थान पर ले जाया गया है।

Chhattisgarh