Aug 13 2022 / 6:21 AM

ईडी ने मल्लिकार्जुन खड़गे को भेजा समन, कांग्रेस नेता बोले- ये कार्रवाई मुझे डराने के लिए की जा रही है





Spread the love

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र के बीच राज्यसभा के नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे पर नेशनल हेराल्ड मामले में ईडी के नोटिस पर बवाल मच गया। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि ईडी द्वारा उस वक्त समन किया गया जब संसद का सत्र चल रहा है जो दिखाता है कि मोदीशाही का स्तर पर हर दिन नीचे गिरता जा रहा है।

ईडी की नोटिस मिलने पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि ये कार्रवाई मुझे डराने के लिए की जा रही है। जिस वक्त सदन चल रहा है, उसी समय ये समन भेजना कहां तक सही है?

वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने समन भेजे जाने पर कहा, लोकतंत्र के इतिहास में यह कभी नहीं हुआ जब विपक्ष के नेताओं को संसद के सत्र के दौरान एजेंसी द्वारा बयान देने के लिए बुलाया गया हो। यदि खड़गे जी को बुलाना था तो सुबह 11 बजे से पहले या शाम 5 बजे के बाद बुला लेते। क्यूंकि जब हैराल्ड दफ्तर पर ईडी गई तब खड़गे जी देर रात तक मौजूद रहे।

आखिर मोदी जी इतने डरे हुए क्यों हैं? महंगाई बढ़ी हुई है, हम अपनी लड़ाई नहीं लड़ रहे आप लोगों की लड़ाई लड़ रहे। सभी सांसद कल राष्ट्रपति जी से मुलाकात करेंगे और कहेंगे कि वित्त मंत्री को हालात की जानकारी नहीं है।

उनके अलावा कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने इस कार्रवाई पर कहा कि ईडी का दुरुपयोग किया जा रहा है। कल यंग इंडिया के ऑफिस को सील कर दिया गया था। हमारे कांग्रेस अध्यक्ष, पूर्व अध्यक्षों और AICC के मुख्यालय के बाहर बैरिकेडिंग लगा दी गई थी। हालांकि बैरिकेडिंग बाद में हटा दी गई थी लेकिन प्रश्न यह उठता है कि यह लगाई क्यों गई थी?

थरूर ने आगे कहा कि ये एक अनुचित कार्यवाही है और यह आभास देता है कि वास्तव में यह तानाशाही है और यह हम नहीं होने देंगे क्योंकि यह लोकतंत्र के लिए खतरा है। लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित भारतीय सरकार नेशनल हेराल्ड के खिलाफ वही कर रही है जो ब्रिटिश साम्राज्य ने उस समय किया था।

Chhattisgarh