Aug 09 2022 / 5:08 PM

पात्रा चॉल घोटाले में संजय राउत के घर ईडी का छापा





Spread the love

मुंबई। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम मुंबई में शिवसेना के नेता संजय राऊत के घर पर आज सुबह-सुबह पहुंच गई। पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामले में दो बार बुलाने पर भी संजय राऊत ईडी के सामने पेश नहीं हुए थे। इसलिए ईडी की टीम आज सुबह-सुबह उनके घर पर पहुंच गई। टीम इस मामले में तीन स्थानों पर सर्च कर रही है। इन तीन में से एक स्थान राउत का निवास है। ईडी की कार्रवाई जारी है। हालांकि एक बार संजय राऊत से 10 घंटे पूछताछ हो चुकी है।

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी आज सुबह करीब 7 बजे शिवसेना नेता संजय राउत के आवास पर पहुंचे। उनसे राउत से पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामले में पूछताछ की जा रही है। जांच एजेंसी की टीम के साथ सीआरपीएफ के अधिकारी भी हैं। यह टीम मुंबई के पूर्वी उपनगर भांडुप में संजय राउत के घर पहुंची है।

पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामले में ईडी की तीन टीमें अलग-अलग स्थानों पर सर्च कर रही हैं। इनमें से एक टीम संजय राउत के मुंबई निवास पर पहुंची है। संजय राउत ने पात्रा चॉल भूमि घोटाले में अपनी किसी भूमिका से इनकार किया है। उन्होंने कहा है कि महाराष्ट्र और शिवसेना की लड़ाई जारी रहेगी।

बता दें कि पात्रा चॉल घोटाले की शुरुआत साल 2007 में हुई थी। तब एचडीआईएल की सहायक कंपनी गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन ने 47 एकड़ में फैले पात्रा चॉल को डेवलप करने का काम हासिल किया था। चॉल में तब काफी लोग रहते थे और इनको 672 फ्लैट बनाकर देने थे। इसके अलावा महाडा को भी 3000 फ्लैट बनाकर देने थे।

आरोप है कि कंपनी ने जमीन पर कोई विकास का काम नहीं किया और महाडा को भी फ्लैट नहीं दिए। जमीन को कंपनी ने 1034 करोड़ में एक और बिल्डर को बेच दिया। इस मामले में ईडी ने पहले संजय राउत के करीबी प्रवीण राउत को गिरफ्तार किया था। बाद में संजय राउत पर भी केस दर्ज किया गया।

Chhattisgarh