Feb 29 2024 / 10:00 PM

तुर्की और सीरिया में भूकंप के बाद चारों तरफ तबाही का मंजर, 1300 से ज्यादा लोगों की मौत

Spread the love

नई दिल्ली। तुर्की और सीरिया में सोमवार को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 7.8 थी। भूकंप से दक्षिण पूर्व तुर्की और सीरिया में भारी नुकसान की खबरें सामने आ रही हैं। दोनों देशों में अब तक भूकंप से 1300 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 3000 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। इस भीषण भूकंप से तुर्की में सबसे ज्यादा असर हुआ है।

तुर्की और सीरिया दोनों देशों में कई जगहों पर इमारतें गिर गईं। मरने वालों की संख्या और बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। भूकंप का केंद्र तुर्की गाजियांटेप में था। यह सीरिया बॉर्डर से 90 किमी दूर स्थित है। ऐसे में सीरिया के कई शहरों में भी भूकंप के झटके महसूस किए। बताया जा रहा है कि बॉर्डर के दोनों ओर भारी तबाही हुई है।

तुर्की में कहरामनमारस इस भूकंप की वजह से जोरदार धमाका हुआ है और आग की ऊंची-ऊंची लपटें उठने लगीं। अमेरिकी जियोलॉजिक सर्वे के मुताबिक स्‍थानीय समयानुसार तड़के चार बजकर 17 मिनट पर पहला झटका आया। यह झटका राजधानी अंकारा समेत तुर्की के दूसरे शहरों में भी महसूस किया गया।

भूकंप की वजह से तुर्की का एक शॉपिंग मॉल भी गिर गया है। फिलीस्‍तीन और इजरायल के बीच स्थित गाजा पट्टी से खबर है कि करीब 45 सेकेंड तक भूकंप के झटके महसूस किए गए। वहीं कुछ ही मिनटों के बाद दूसरा भूकंप आया। इस भूकंप की वजह से सीरिया में भी कई इमारतें गिर गई हैं।

फिलीस्‍तीन और इजरायल के बीच स्थित गाजा पट्टी से खबर है कि करीब 45 सेकेंड तक भूकंप के झटके महसूस किए गए। वहीं कुछ ही मिनटों के बाद दूसरा भूकंप आया। इस भूकंप की वजह से सीरिया में भी कई इमारतें गिर गई हैं। इस भूकंप की वजह से सीरिया में भी कई इमारतें गिर गई हैं। एक मस्जिद के अंदर से भी जो तस्‍वीरें आ रही हैं, उसमें झूमर और आसपास के खंबे हिलते हुए नजर आ रहे हैं।

कई अपार्टमेंट्स इस भूकंप की वजह से ढह गए हैं। ऐसी आशंका है कि उनमें कई लोग दबे हो सकते हैं। इस भूकंप के बाद सीरिया, इजरायल, लेबनान, इराक, इजरायल, फिलीस्‍तीन, साइप्रस तक में झटके महसूस किए गए। जो वीडियो सोशल मीडिया पर जो वीडियो आ रहे हैं उनमें साफ देखा जा सकता है कि भूकंप की वजह से किस तरह बिल्डिंग्‍स हिल रही हैं।

बताया जा रहा है कि तुर्की में भूकंप स्थानीय समय के मुताबिक, सुबह 04:17 बजे आया। इसकी गहराई जमीन से 17.9 किलोमीटर अंदर थी। भूकंप का केंद्र गाजियांटेप के पास था। भूकंप के तेज झटकों में कई इमारतें ढह गईं।

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब इरदुगान ने ट्वीट कर बताया कि भूकंप से प्रभावित क्षेत्रों में रेस्क्यू अभियान जारी है। भूकंप के दौरान कम से कम 6 बार झटके लगे। इरदुगान ने लोगों से अपील की कि वे क्षतिग्रस्त इमारतों में प्रवेश न करें।

बताया जा रहा है कि भूकंप के झटके लेबनान, सीरिया में भी महसूस किए गए। सीरिया में अलेप्पो और हमा शहर से नुकसान की खबरें सामने आ रही हैं। सिविल डिफेंस के मुताबिक, सीरिया में तुर्की से लगे इलाकों में कई इमारतें गिर गईं। दमिश्क में भी भूकंप के झटकों के बाद लोग सड़कों पर आ गए। लेबनान में करीब 40 सेकेंड तक भूकंप के झटके महसूस किए गए। तुर्की की भौगोलिक स्थिति के चलते यहां अक्सर भूकंप आते रहते हैं। यहां 1999 से अब तक भूकंप से 18000 लोगों की मौत हो चुकी है।

Chhattisgarh