Feb 29 2024 / 8:40 PM

पाकिस्तान के पेशावर की मस्जिद में धमाका, 28 लोगों की मौत, कई घायल

Spread the love

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पेशावर के पुलिस लाइंस इलाके में धमाके की खबर है। ये विस्फोट एक मस्जिद में बताया जा रहा है। सोमवार दोपहर मस्जिद में नमाज के दौरान ब्लास्ट हुआ। इस धमाके में 28 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही इस धमाके में 150 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं, जिन्हें पेशावर के लेडी रीडिंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

सुरक्षा और स्वास्थ्य अधिकारियों ने जियो न्यूज को बताया कि पेशावर के पुलिस लाइंस इलाके में एक मस्जिद के भीतर सोमवार को हुए एक शक्तिशाली आत्मघाती विस्फोट में दो पुलिसकर्मियों की मौत हो गई, जबकि 90 से अधिक घायल हो गए।

सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि आत्मघाती हमलावर नमाज के दौरान सबसे आगे की लाइन में मौजूद था, इसी दौरान उसने खुद को उड़ा लिया, जिससे जोहर की नमाज अदा करने वाले दर्जनों लोग घायल हो गए। जियो न्यूज ने अस्पताल के सूत्रों के हवाले से बताया कि घायलों में से 13 की हालत बेहद गंभीर है। वहीं अस्पताल के एक प्रवक्ता ने कहा कि विस्फोट में दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए हैं और 90 घायलों को अस्पताल लाया गया है। डॉक्टरों ने कहा कि 10 से अधिक घायलों की हालत गंभीर है।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री ने मस्जिद में हुअ सुसाइड अटैक पर ट्वीट करके कहा, पेशावर की पुलिस लाइन मस्जिद में नमाज के दौरान हुए आतंकी आत्मघाती हमले की कड़ी निंदा करता हूं। मेरी प्रार्थना और संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं। यह जरूरी है कि हम अपनी खुफिया जानकारी जुटाने में सुधार करें और आतंकवाद के बढ़ते खतरे से निपटने के लिए अपने पुलिस बलों को उचित रूप से तैयार करें।

एक चश्मदीद ने मीडिया को बताया कि जब धमाका हुआ तो वह मस्जिद जा रहा था। उसने कहा, यह एक बेहद शक्तिशाली विस्फोट था। विस्फोट के बाद हर जगह धुआं था। उसने कहा कि जब उसे होश आया तो देखा कि मस्जिद की छत गिरी हुई है। चश्मदीद ने बताया, घटना के समय मस्जिद में कम से कम 120 लोग थे। यह एक आत्मघाती विस्फोट था क्योंकि हमलावर मस्जिद के भीतरी आंगन के अंदर था। जब धमाका हुआ तब जोहर की नमाज शुरू ही हुई थी। घायलों में ज्यादातर पुलिसकर्मी थे।

इससे पहले मार्च 2022 में एक शिया मस्जिद में बड़ा धमाका हुआ था, जिसमें कम से कम 57 लोग मारे गए थे। इस हमले में कम से कम 200 लोग घायल भी हुए थे। यह धमाका जुमे की नमाज के दौरान हुआ था।

Chhattisgarh