Feb 05 2023 / 3:42 PM

परमवीर चक्र विजेताओं के नाम पर होगा अंडमान के 21 द्वीपों का नाम, पीएम मोदी ने किया अनावरण

Spread the love

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 126वीं जयंती के अवसर पर शहीदों को सम्मान दिया। इस अवसर पर अंडमान-निकोबार के 21 अनाम द्वीपों का नामकरण किया। इसके साथ ही यहां पर समर्पित स्मारक के एक मॉडल का वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए उद्धाटन किया। इन अनाम द्वीपों को अब परमवीर चक्र विजेताओं के नाम से जाना जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, द्वीपों का नाम 21 परम वीर चक्र विजेताओं के नाम पर रखा गया है। इनमें मेजर सोमनाथ शर्मा, सूबेदार और मानद कैप्टन (तत्कालीन लांस नायक) करम सिंह, नायक जदुनाथ सिंह, द्वितीय लेफ्टिनेंट रामा राघोबा राणे शामिल हैं।

बता दें कि सोमवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 126वीं जयंती मनाई जा रही है। संसद से लेकर अंडमान तक बड़े कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। बता दें कि नेताजी के जन्मदिन दिवस को पराक्रम दिवस के तौर पर मनाया जाता है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीएम मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सबसे पहले नेता सुभाष बोस की जयंती को याद करते हुए देशवासियों को पराक्रम दिवस की शुभकामनाएं दी।

पीएम मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, आज पराक्रम दिवस पर अंडमान और निकोबार में नई सुबह की रश्मियां एक नया इतिहास लिख रही है और जब इतिहास बनता है। तो आने वाली सदियां उसको अस्मरण भी करती है आकलन और मूल्यांकन भी करती रहती है और अभिरथ प्रेरणा पाती रहती है।

पीएम मोदी ने कहा, आज अंडमान और निकोबार के 21 द्वीपों का नामकरण हुआ है। इन 21 द्वीपों को अब परमवीर चक्र विजेताओं के नाम से जाना जाएगा। जिस द्वीप पर नेता सुभाष चंद्र बोस रहे थे। वहां उनके जीवन और योगदानों को समर्पित एक प्रेरणास्थली स्मारक का भी शिलांयास हुआ है। जिन 21 परमवीर चक्र विजेताओं के नाम से इन द्वीपों को जाना जाएगा उन्होंने मातृभूमि के कण-कण को अपना सबकुछ माना था, उन्होंने भारत मां की रक्षा के लिए अपना सबकुछ न्योछावर कर दिया था।

पीएम मोदी ने आगे कहा, अड़मान की धरती वो भूमि है जिसका आसमान में पहली बार मुक्त तिरंगा फहरा था। सेल्यूलर जेल की कोठरियों से आज भी अप्रतिम पीड़ा के साथ-साथ उस अभूतपूर्व जज़्बे के स्वर सुनाई पड़ते हैं।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने परमवीर चक्र विजेताओं को सम्मानित करने की यह पहल की। 21 द्वीपों में 16 उत्तर और मध्य अंडमान जिले में और पांच दक्षिण अंडमान में मौजूद हैं। इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस अवसर पर अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह में तिरंगा फहराया। गौरतलब है कि अमित शाह अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के दो दिवसीय दौरे पर रविवार रात को पोर्ट ब्लेयर पहुंचे थे।

अमित शाह के सेलुलर जेल में दौरा करने के आसार हैं। यहां पर भारत की आजादी की लड़ाई लड़े रहे कई स्वतंत्रता सेनानियों को बंदी बनाकर रखा गया था। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह पर पहले जापान का कब्जा था। इसे औपचारिक रूप से 29 दिसंबर 1943 को नेताजी की आजाद हिंद सरकार को सौंप दिया गया।

Chhattisgarh