Jul 02 2022 / 2:19 PM

रंग पंचमी 2022: जानें शुभ मुहूर्त और इसका महत्व





Spread the love

रंगपंचमी, होली के ठीक पांच दिन बाद चैत्र मास की कृष्ण पंचमी को मनाई जाती है। इस बार रंगपंचमी 22 मार्च को मनाई जाएगी। यह पर्व खासतौर से महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश में मनाया जाता है। देश के कुछ अन्य हिस्सों में भी लोग इसे धूमधाम से मनाते हैं।

रंगपंचमी होली का ही एक भाग है. होली का उत्सव चैत्र मास की कृष्ण प्रतिपदा से लेकर पंचमी तक चलता है। कृष्ण पंचमी के दिन भी लोग गुलाल से देखते हैं। इसलिए इसे रंग पंचमी कहा जाता है। रंग पंचमी कोकण क्षेत्र का खास त्यौहार है।

लोग मानते हैं कि हवा में रंग उड़ाने पर और एक-दूसरे को लगाने पर विभिन्न रंगों की ओर देवता आकर्षित होते हैं। इससे वातावरण ब्रह्मांड में सकारात्मक तंरगों का संयोग बनता है और रंग कणों में संबंधित देवताओं के स्पर्श की अनुभूति होती है। माना जाता है कि इस दिन वातावरण में उड़ते हुए गुलाल व्यक्ति में सकारात्मक गुणों भरते हैं और नकारात्मकता का नाश करते हैं।

रंग पंचमी का शुभ मुहूर्त

चैत्र मास की रंगपंचमी तिथि – 22 मार्च, 2022 दिन मंगलवार
चैत्र कृष्ण पक्ष पंचमी तिथि का प्रारंभ – 22 मार्च 2022, मंगलवार 06:24 मिनट (सुबह)
चैत्र कृष्ण पक्ष पंचमी तिथि का समाप्त – 23 मार्च 2022, बुधवार, सुबह 04:21 मिनट (सुबह)

Chhattisgarh