Jul 02 2022 / 1:02 PM

हनुमान जयंती 2022: जानें शुभ मुहूर्त और पूजन विधि





Spread the love

हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार, श्रीराम भक्त हनुमान का जन्म चैत्र पूर्णिमा को मंगलवार के दिन चित्रा नक्षत्र और मेष लग्न के योग में हुआ था। कहते हैं कि इस दिन बजरंगबली की विधि-विधान से पूजा करने वालों को मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। हनुमान जयंती इस बार शनिवार, 16 अप्रैल को मनाई जाएगी। हनुमान की उपासना के लिए यह दिन बहुत ही उत्तम माना गया है। हनुमान जयंती पर पूजा के लिए इस बार एक विशेष योग भी बन रहा है।

शुभ मुहूर्त-

चैत्र माह की पूर्णिमा तिथि शनिवार, 16 अप्रैल को देर रात 02.25 से प्रारंभ होकर रविवार, 17 अप्रैल को दोपहर 12.24 पर समाप्त होगी। इस दिन हस्त और चित्रा नक्षत्र रहेगा। हनुमान जयंती पर सुबह 5.55 से लेकर 08.40 तक रवि योग भी रहेगा। रवि योग में भगवान की पूजा करना बड़ा ही शुभ माना जाता है। इस अवधि में आप किसी शुभ कार्य की शुरुआत भी कर सकते हैं।

पूजन विधि-

हनुमान जयंती पर शाम को लाल वस्त्र बिछाकर हनुमान जी की मूर्ति या फोटो को दक्षिण मुंह करके स्थापित करें। खुद लाल आसन पर लाल वस्त्र पहनकर बैठ जाएं। घी का दीपक और चंदन की अगरबत्ती या धूप जलाएं। चमेली तेल में घोलकर नारंगी सिंदूर और चांदी का वर्क चढ़ाएं। इसके बाद लाल फूल से पुष्पांजलि दें। लड्डू या बूंदी के प्रसाद का भोग लगाएं। केले का भोग भी लगा सकते हैं। दीपक से 9 बार घुमाकर आरती करें और ‘ॐ मंगलमूर्ति हनुमते नम:’ मंत्र का जाप करें।

Chhattisgarh