May 24 2022 / 4:39 AM

मुख्यमंत्री के निर्देश पर तत्काल बना राशन कार्ड

भेंट-मुलाकात कार्यक्रम: कुसमी की शशिकला ने रखी थी मुख्यमंत्री के सामने समस्या

जनसमस्या निवारण में लापरवाही पर नगर पंचायत सीएमओ निलंबित

रायपुर। भेंट-मुलाकात अभियान के पहले दिन मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल बलरामपुर जिले के दौरे पर थे। इस दरम्यान वे कुसमी नगर पंचायत भी पहुंचे। यहां श्रीमती शशिकला बरगाह ने मुख्यमंत्री के सामने शिकायत रखी कि उसका नाम गरीबी रेखा सूची से काट दिया गया है, और उनके पास राशन कार्ड नहीं है। शिकायत मिलने पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कलेक्टर बलरामपुर से बात की और जनसमस्या निवारण में लापरवाही बरतने पर नगर पंचायत सीएमओ को निलंबित करने के निर्देश दिए। इधर मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद उक्त महिला श्रीमती शशिकला बरगाह को तत्काल राशन कार्ड जारी कर दिया गया है। राशन कार्ड मिलने पर हितग्राही परिवार ने मुख्यमंत्री श्री बघेल का आभार जताया है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आज से छत्तीसगढ़ में भेंट-मुलाकात अभियान की शुरुआत की। मुख्यमंत्री इस दौरान प्रदेश के सभी 90 विधानसभा क्षेत्र में पहुंचेंगे।

गौरतलब है कि भेंट-मुलाकात अभियान के दौरान मुख्यमंत्री जनता से जुड़ी सरकारी संस्थाओं के निरीक्षण के लिए भी पहुंच रहे हैं। इस क़ड़ी में श्री बघेल कुसमी नगर पंचायत अंतर्गत संचालित राशन दुकान में पहुंचे थे। यहां मुख्यमंत्री के होने की जानकारी मिलने पर स्थानीय निवासी श्रीमती शशिकला भी पहुंची और राशन कार्ड न होने की समस्या बताई। इसे गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने तत्काल कलेक्टर बलरामपुर से मामले पर चर्चा की और योजनाओं के क्रियान्यवन में उदानसीनता बरतने, जरूरतमंद को सरकारी योजना से वंचित रखने व कर्तव्य के प्रति लापरवाही बरतने पर सीएमओ नगर पंचायत कुसमी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। दूसरी ओर पीड़ित परिवार को तत्काल राहत देने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद हितग्राही परिवार को प्राथमिकता श्रेणी का राशन कार्ड जारी किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर जनता को परेशान होना पड़ेगा, तो कार्रवाई निश्चित है। निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने हितग्राहियों से चर्चा कर राशन वितरण की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने पूछा कि सबको बराबर राशन मिल रहा है या नहीं इस पर महिलाओं ने राशन मिलने की जानकारी दी। उन्होंने महिलाओं से राशन की दर के बारे में भी पूछा। मुख्यमंत्री ने उचित मूल्य दुकानदार से स्टाक पंजी मांग कर देखी और राशन कार्ड के संबंध में जानकारी ली।

Chhattisgarh