Jul 02 2022 / 2:14 AM

हम बाबरी को खो चुके हैं, दूसरी मस्जिद नहीं खोने देंगे: ओवैसी





Spread the love

नई दिल्ली। ज्ञानवापी मस्जिद में हुए सर्वे का वीडियो लीक होने को लेकर एमआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने आपत्ति जाहिर की है। उन्होंने इसे कोर्ट के आदेश की अवहेलना बताते हुए कहा है कि वीडियो फर्जी भी हो सकता है। उन्होंने कहा कि यदि यह वीडियो सच भी है तो भी ज्ञानवापी मस्जिद थी, है और रहेगी।

असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जो वीडियो मीडिया में (वीडियो) चलाए जा रहे हैं, वो बहुत बड़ी गलती कर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट में तो जजों ने कहा कि मीडिया को नहीं चलाना चाहिए। यह सलेक्टिवली कौन दे रहा है? आप लीक कर लो, कुछ भी कर लो, 1991 का एक्ट है। एक्ट के मुताबिक 1947 में मस्जिद थी, मस्जिद है और रहेगी।

उन्होंने कहा, ज्ञानवापी मस्जिद थी और मस्जिद रहेगी। अगर वीडियो सच्चा है तो भी वह ज्ञानवापी मस्जिद ही रहेगी। ये तब तक मस्जिद रहेगी, जब तक वर्शिप एक्ट रहेगा। उन्होंने कहा, हमारी बाबरी मस्जिद छीनी गई। हमने एक बाबरी मस्जिद खो दी, अब दूसरी मस्जिद को खोने नहीं देंगे इंशा अल्लाह।

ओवैसी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो भी पोस्ट किया है। उन्होंने नौजवानों को संबोधित करते हुए कहा, मैं 20-22 साल के नौजवानों से कहना चाहता हूं कि बाबरी मस्जिद को याद रखो, हमसे इसे छीन लिया गया। इसी तरह से ये कोशिश हो रही है कि ज्ञानवापी, मथुरा की ईदगाह, लखनऊ की टीले वाली मस्जिद, मुंबई की हाजी अली दरगाह, अजमेर और ख्वाजा अजमेरी को भी छीन लिया जाए।

Chhattisgarh