Jul 02 2022 / 1:11 AM

लाउड स्पीकर धार्मिक नहीं, बल्कि सामाजिक मुद्दा: राज ठाकरे





Spread the love

नई दिल्ली। महाराष्ट्र की राजनीति में हार्डकोर हिंदुत्व की खाली जगह को भरने के लिए राज ठाकरे तेज दौड़ लगा रहे हैं। वो हिंदुत्व के मुद्दे को उठा रहे हैं, तो मस्जिदों पर लाउड स्पीकरों के खिलाफ मोर्चा ही खोल चुके हैं। इस बीच, राज ठाकरे ने पुणे में प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया और कहा कि वो लाउड स्पीकर के मुद्दे को धार्मिक नहीं मानते, बल्कि उसे सामाजिक मुद्दा मानते हैं। इस बीच उन्होंने कहा कि वो जून में अपने समर्थकों के साथ अयोध्या जाएंगे और भगवान राम के दर्शन करेंगे।

राज ठाकरे ने आगे कहा, महाराष्ट्र में हमें कोई दंगा नहीं चाहिए, इंसान के रूप में मुस्लिम धर्मगुरुओं को समझना चाहिए कि लाउड स्पीकर जरूरी नहीं वरना हम भी मस्जिद के सामने लाउड स्पीकर बजायेंगे। 1 मई को औरंगाबाद (संभाजीनगर) में सभा करूंगा।

इससे पहले, राज ठाकरे ने चेतावनी दी थी कि मस्जिदों से लाउडस्पीकर बंद कराए जाएं, नहीं तो हम मस्जिदों के सामने ​हनुमान चालीसा बजाएंगे। मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में राज ने कहा था कि मैं नमाज के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन सरकार को मस्जिद के लाउडस्पीकर हटाने पर फैसला लेना चाहिए।

उन्होंने कहा था कि मैं पीएम मोदी से मुस्लिम झोंपड़ियों में मदरसों पर छापा मारने की अपील करता हूं। इन झोंपड़ियों में पाकिस्तानी समर्थक रह रहे हैं। मुंबई पुलिस जानती है कि वहां क्या हो रहा है। विधायक ऐसे लोगों को वोटबैंक के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसे लोगों के पास आधार कार्ड भी नहीं है, लेकिन विधायक बनवाते हैं।

Chhattisgarh