Jul 02 2022 / 1:08 PM

पैसे लेकर टिकट बांटने के आरोप पर बोले हरीश रावत- कांग्रेस मुझे निष्कासित करे, होली पर दहन कर दो





Spread the love

नई दिल्ली। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता हरीश रावत ने विधानसभा चुनाव में टिकट बेचने के आरोप पर प्रतिकिया दी है। उन्होंने आज मंगलवार को कहा कि पद और पार्टी के टिकट बेचने के आरोप गंभीर हैं। इसलिए वो चाहते हैं कि इस आरोपों पर उन्हें कांग्रेस पार्टी से निष्कासित कर दिया जाए।

खुद पर लगे गंभीर आरोप पर हरीश रावत ने ट्विटर पर एक नोट में अपना जवाब दिया। उन्होंने कहा कि ‘पद और पार्टी टिकट बेचने का आरोप अत्यधिक गंभीर है। आरोप ऐसे व्यक्ति पर लगाए जा रहे हैं जो प्रदेश का मुख्यमंत्री रहा। प्रदेश अध्यक्ष रहा। पार्टी का महासचिव रहा। कांग्रेस कार्यसमिति का सदस्य रहा।’

रावत ने आगे कहा कि उनपर आरोप लगाने वाला व्यक्ति (रंजीत रावत) भी गंभीर पद पर है। उस व्यक्ति द्वारा अति गंभीर पद पर बैठे व्यक्ति के खिलाफ प्रचार-प्रसार किया रहा है तो ये आरोप और भी गंभीर हो जाता है। बकौल रावत ये आरोप मुझ पर लगाया गया है। मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि कांग्रेस पार्टी मुझ पर लगे इन आरोप पर निष्कासित कर दे। उन्होंने कहा कि ‘होली बुराईयों के समन का एक उचित उत्सव है। होलिका दहन में हरीश रावत रूपी बुराई का भी कांग्रेस को दहन कर देना चाहिए।’

दरअसल उत्तराखंड में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रंजीत रावत ने पूर्व सीएम पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि हरीश रावत ने पैसे लेकर टिकट बांटे थे। टिकट ना मिलने पर लोग अब हरीश रावत को तलाश रहे हैं। कार्यकारी अध्यक्ष ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि कुछ पैसे हरीश रावत के मैनेजर ने वापस भी कर दिए हैं। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हरीश रावत ऐसे ही नेताओं को अफीम चटा देते हैं।

Chhattisgarh