May 26 2022 / 11:04 AM

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से मिलने पहुंचे चीनी विदेश मंत्री, कई अहम मुद्दों पर हुई चर्चा

नई दिल्ली। चीनी विदेश मंत्री वांग यी भारत दौरे पर आए हुए हैं। पहले उनसे विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मुलाकात की और अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने वांग के बीच बैठक हुई। इस बैठक के दौरान डोभाल ने वांग यी को स्पष्‍ट शब्दों में दो टूक कह दिया है कि द्विपक्षीय संबंधों को स्वाभाविक रूप से चलाने के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर पूरी तरह से सेना को पीछे हटाने की आवश्यकता है।

वांग यी ने अपने भारतीय समकक्ष एस जयशंकर के साथ निर्धारित बैठक से पहले डोभाल से मुलाकात की। भारत के शीर्ष सुरक्षा अधिकारी ने शांति बहाली के लिए राजनयिक और सैन्य स्तर पर सकारात्मक बातचीत जारी रखने की आवश्यकता पर भी प्रकाश डाला, जो संबंधों के सामान्यीकरण के लिए एक शर्त है।

डोभाल ने वांग से यह सुनिश्चित करने को कहा कि चीन की कार्रवाइयां समान और आपसी सुरक्षा की भावना का उल्लंघन न करें। एक घंटे तक चली बैठक के दौरान उन्होंने इसी दिशा में काम करने और लंबित मुद्दों को जल्द से जल्द हल करने का आह्वान किया।

चीनी पक्ष ने भारत-चीन सीमा प्रस्तावों पर काम कर रहे विशेष प्रतिनिधियों के जनादेश को आगे बढ़ाने के लिए एनएसए को चीन का दौरा करने के लिए आमंत्रित किया। वांग और डोभाल क्रमशः चीन और भारत के विशेष प्रतिनिधि हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने निमंत्रण पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी और कहा कि वह तत्काल मुद्दों को सफलतापूर्वक हल करने के बाद ही यात्रा कर सकते हैं।

बैठक के तुरंत बाद, वांग हैदराबाद हाउस में व्यापक बातचीत के लिए जयशंकर से मिलने गए। लगभग दो साल पहले एलएसी पर सैन्य गतिरोध के बाद संबंधों में तनाव के बाद चीनी विदेश मंत्री उच्चतम स्तरीय बैठक के लिए दिल्ली में हैं।

Chhattisgarh