May 24 2022 / 5:37 AM

टीम इंडिया को बड़ा झटका, दीपक चाहर का टी20 विश्व कप में खेलना मुश्किल

नई दिल्ली। आईपीएल के जरिए टी20 विश्व कप की तैयारियों में लगी टीम इंडिया को बड़ा झटका लगा है। ऑलराउंडर दीपक चाहर चार महीने के लिए मैदान से दूर रहे सकते हैं। ऐसे में उनका टी20 विश्व कप में खेलना भी मुश्किल है। वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के दौरान दीपक की मांसपेशियों में खिंचाव आया था।

इसके बाद अप्रैल महीने के अंत तक उनकी वापसी की उम्मीद जताई जा रही थी, लेकिन अब उनकी पीठ में भी चोट लगी है और चार महीने के लिए वो क्रिकेट से दूर रह सकते हैं। ऐसे में हार्दिक पांड्या या शार्दुल ठाकुर को मौका मिलना लगभग तय हो चुका है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एनसीए में ट्रेनिंग कर रहे दीपक चाहर दूसरी बार चोटिल हो गए हैं। इसी साल फरवरी के महीने में वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के दौरान उनकी मांसपेशियों में खिंचाव आया था। इस चोट से उबरने के लिए चाहर एनसीए में ट्रेनिंग कर रहे थे और अप्रैल के अंत तक उनके फिट होने की उम्मीद थी। अब वो आईपीएल से बाहर हो चुके हैं और टी20 विश्व कप से भी बाहर हो सकते हैं।

दीपक चाहर पावरप्ले में विकेट चटकाने में माहिर हैं और उनकी बल्लेबाजी को ध्यान में रखते हुए चेन्नई की टीम ने 14 करोड़ की कीमत पर उन्हें अपने साथ जोड़ा था, लेकिन वो इस सीजन अपनी टीम के लिए कोई मैच नहीं खेल पाए हैं। इसका असर टीम के प्रदर्शन पर भी पड़ा है। शुरुआती चार मैच हारने के बाद चेन्नई की टीम को पांचवें मैच में जीत नसीब हुई है। इस मैच में चेन्नई के बल्लबाजों ने सीजन का सबसे बड़ा स्कोर बनाया, तब जाकर गेंदबाज 23 रन से जीत दिला पाए।

चाहर के आईपीएल से बाहर होने के बाद चेन्नई का प्लेऑफ में पहुंचना मुश्किल नजर आ रहा है, क्योंकि टीम की गेंदबाजी बहुत ही कमजोर है और सिर्फ बल्लेबाजों के दम पर प्लेऑफ में जगह बनाना मुश्किल होगा। चेन्नई के लिए पावरप्ले में चाहर का रिकॉर्ड शानदार है। उन्होंने 58 पारियों में पावरप्ले के अंदर 42 विकेट लिए हैं और 7.61 की इकोनॉमी रेट से रन खर्चे हैं। वहीं उनकी जगह टीम में शामिल किए गए मुकेश चौधरी कुछ खास नहीं कर पाए हैं।

टी20 विश्व कप 2021 में भारतीय टीम ने चोटिल हार्दिक पांड्या को टीम में शामिल किया था और इसका नतीजा भी भुगतना पड़ा था। पांड्या न तो बल्ले से अच्छा प्रदर्शन कर पाए और न ही गेंद के साथ प्रभावित कर पाए थे। उनकी वजह से टीम का संतुलन भी खराब हुआ था और भारत सेमीफाइनल में भी नहीं पहुंच पाया था। इस बार भारतीय टीम यह गलती नहीं दोहराना चाहेगी। अगर चाहर विश्व कप से पहले पूरी तरह फिट नहीं हो पाते हैं तो उनकी जगह हार्दिक पांड्या, शार्दुल ठाकुर या भुवनेश्वर कुमार को मौका दिया जा सकता है। हालांकि, भुवनेश्वर की जगह पहले ही टीम इंडिया में पक्की हो चुकी है।

टी20 विश्व कप ऑस्ट्रेलिया में होना है, जहां तेज गेंदबाजों को मदद मिलती है। ऐसे में चाहर का खेलना लगभग तय था, लेकिन उनके चोटिल होने के बाद हार्दिक पांड्या या शार्दुल ठाकुर को मौका दिया जा सकता है। दोनों लगातार 140 की गति से गेंदबाजी कर रहे हैं और बल्ले से भी अच्छी पारियां खेल रहे हैं।

Chhattisgarh